पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Jharkhand
  • Sadar Hospital Security Personnel Meeting With Jharkhand Cm Hemant Soren And Health Minister Banna Gupta

अस्पताल के सुरक्षाकर्मियों की नौकरी का मामला:सीएम सोरेन से तीन और स्वास्थ्य मंत्री से 13 बार हुई मुलाकात, हर बार सिर्फ आश्वासन मिला, अब आत्मदाह की चेतावनी दी

रांची7 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
अपनी मांगों को लेकर प्रदर्शन करते पूर्व सुरक्षा कर्मी।
  • सदर अस्पताल के पूर्व सुरक्षाकर्मियों ने नौकरी वापसी की मांग को लेकर स्वास्थ्य सचिव नितिन मदन कुलकर्णी से मिलने पहुंचे
  • संघ के अध्यक्ष ने कहा- मांगे नहीं मानी तो परिवार के साथ करेंगे आत्मदाह, सीएम, स्वास्थ्य मंत्री और स्वास्थ्य सचिव होंगे जिम्मेदार

जिला सुरक्षा कर्मचारी संघ के बैनर तले बुधवार को पूर्व सुरक्षाकर्मियों ने अपनी मांगों को लेकर स्वास्थ्य सचिव नितिन मदन कुलकर्णी के पास पहुंचे। उन्होंने बताया कि उन्होंने हेमंत सोरेन से अब तक तीन बार मुलाकात की है। हर बार आश्वासन मिला है। अब तक हम लोगों ने 13 बार स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता से मुलाकात की है लेकिन आज तो वे अपनी बातों से ही मुकर गए। स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि सचिव हमारी बात ही नहीं मानते।

सदर अस्पताल के पूर्व सुरक्षा कर्मियों ने कहा कि चुनाव से पहले हमने हेमंत सोरेन से बातचीत की थी। उस वक्त उन्होंने कहा था कि आपलोग चुनाव में वोट दीजिए जितने के बाद आपको नौकरी मिल जाएगी। लेकिन तब से लेकर आज तक सिर्फ हमें आश्वासन मिल रहा है। पूर्व सुरक्षाकर्मियों ने बताया कि वे सदर अस्पताल में सुरक्षाकर्मी के तौर पर कार्यरत थे। 14 फरवरी 2019 को उन्हें हटाकर उनकी जगह होम गार्ड्स की नियुक्ति कर दी गई। अब हमारी मांग है कि हमें वापस नौकरी पर रखा जाए। पिछले डेढ़ साल से 155 सुरक्षाकर्मी अपनी नौकरी वापसी के लिए भटक रहे हैं।

महिला पूर्व सुरक्षाकर्मी ने बताया कि हम सात साल से सदर अस्पताल में काम कर रहे थे। 14 फरवरी 2019 को हमें हटा दिया गया। उस वक्त हम सभी तत्कालीन मुख्यमंत्री रघुवर दास के पास पहुंचे। फिर तत्कालीन स्वास्थ्य मंत्री रामचंद्र चंद्रवंशी के पास पहुंचे। दोनों ही जगहों से हमें सिर्फ आश्वासन मिला।

मांगे पूरी नहीं होने पर परिवार के साथ करेंगे आत्मदाह
रांची जिला सुरक्षा कर्मचारी संघ के अध्यक्ष मोबिन अंसारी ने बताया कि अगर उनकी मांगों को पूरा नहीं किया गया तो वे सामूहिक आत्मदाह करने को मजबूर होंगे जिसकी जिम्मेदारी मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन, स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता और स्वास्थ्य सचिव नितिन मदन कुलकर्णी की होगी।

रांची सदर अस्पताल एक मार्च 2019 से है होमगार्ड के हवाले
सदर अस्पताल रांची समेत रांची के सभी सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र, प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र और अनुमंडल अस्पताल बुंडू की सुरक्षा एक मार्च 2019 से होमगार्ड के हवाले है। रांची सिविल सर्जन ने जिला समादेष्टा, गृह रक्षा वाहिनी के साथ एमओयू किया है। इस संबंध में सिविल सर्जन रांची ने बताया था कि स्वास्थ्य सचिव द्वारा दिए गए निर्देश के आलोक में स्वास्थ्य केंद्रों की सुरक्षा की जिम्मेवारी होमगार्ड को दी गई है।

0

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- समय पूर्णतः आपके पक्ष में है। वर्तमान में की गई मेहनत का पूरा फल मिलेगा। साथ ही आप अपने अंदर अद्भुत आत्मविश्वास और आत्म बल महसूस करेंगे। शांति की चाह में किसी धार्मिक स्थल में भी समय व्यतीत ह...

और पढ़ें