पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

बाबा बैद्यनाथ मंदिर में होली:फागुन पूर्णिमा के अवसर पर देवघर बाबा मंदिर में हुआ हरि और हर का मिलन, आज मनाई गई होली

देवघरएक महीने पहले
हरि का हर से मिलन कराते हुए।

बाबा नगरी में रविवार को फागुन पूर्णिमा होली के अवसर पर हरी और हर का मिलन हुआ। इस ऐतिहासिक क्षण को देखने के लिए यहां लोगों की काफी भीड़ जुटी। सोमवार को पूरे देश में होली मनाई गई। वहीं, बाबा बैद्यनाथ मंदिर से रविवार को भगवान श्री हरि को पालकी में बैठा कर ढोल बाजे के साथ अबीर गुलाल उड़ाते हुए आजाद चौक स्थित दोल मंच ले जाया गया। दोल मंच में भगवान श्री हरि को झूले पर झुलाया गया। शाम को होलिका दहन के बाद भगवान श्री हरि को दोल मंच से बाबा मंदिर लाया गया और श्री हरि को बाबा बैद्यनाथ के शिवलिंग से स्पर्श कराते हुए हरि और हर का मिलन कराया गया।

बाबा वैद्यनाथ धाम में उमड़ी श्रद्धालुओं की भीड़।
बाबा वैद्यनाथ धाम में उमड़ी श्रद्धालुओं की भीड़।

इस क्षण को देखने के लिए लोगों की भारी भीड़ जुटी। यह ऐतिहासिक क्षण पूरे देश में सिर्फ देव नगरी में ही देखने को मिलती है। इसके पीछे की कहानी है कि जब रावण द्वारा भगवान शिव को लंका ले जाया जा रहा था, तब इसी देवनगरी के हरितका वन में रावण को लघुशंका लगी और रावण के द्वारा एक ग्वाले को जो कि स्वयं भगवान विष्णु थे के हाथ में शिवलिंग देकर लघुशंका के लिए गया और काफी देर तक वापस नहीं आया।

बाबा भोलेनाथ को रंग-गुलाल लगाने के लिए लोगों की भीड़ उमड़ पड़ी।
बाबा भोलेनाथ को रंग-गुलाल लगाने के लिए लोगों की भीड़ उमड़ पड़ी।

भगवान शिव द्वारा कहा गया था कि जिस जगह पर शिवलिंग रखा जाएगा, वहीं स्थापित हो जाएंगे। इस कथन के अनुसार काफी देर तक रावण के नहीं आने के बाद उक्त ग्वाले द्वारा शिवलिंग को यहां रख दिया गया और भगवान शिव यहीं स्थापित हो गए। लघुशंका से लौटने के बाद रावण काफी प्रयास के बाद भी शिवलिंग को नहीं उठा पाया और अंत में वह यहां से वापस चला गया। तब से यहां हरि और हर का मिलन कराया जाता है।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज दिन भर व्यस्तता बनी रहेगी। पिछले कुछ समय से आप जिस कार्य को लेकर प्रयासरत थे, उससे संबंधित लाभ प्राप्त होगा। फाइनेंस से संबंधित लिए गए महत्वपूर्ण निर्णय के सकारात्मक परिणाम सामने आएंगे। न...

और पढ़ें