पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Jharkhand
  • When The Third Daughter Was Born, The Mother Left Her In The Ground Due To The Harassment, Shruti Rescued From The Dogs, After Celebrating The Mother And Handed Back The Innocent

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

पति बेटा चाहता था:तीसरी बेटी हुई तो मां ने प्रताड़ना के चलते उसे मैदान में छोड़ा; श्रुति ने कुत्ताें से बचाया, मां काे मनाकर वापस सौंपी मासूम

जमशेदपुर4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
मैदान में छोड़ी गई मासूम और उसे बचाने वाली श्रुति। - Dainik Bhaskar
मैदान में छोड़ी गई मासूम और उसे बचाने वाली श्रुति।
  • 16 दिन की बच्ची मैदान में रो रही थी और कुत्ते नोंचने के लिए झपट रहे थे
  • श्रुति ने आवाज लगाई तो भीड़ जुटी, फिर महिला बच्ची के पास वापस लौटी

पति की प्रताड़ना से तंग एक महिला ने अपनी 16 दिन की बच्ची काे टेल्काे टीआरएफ काॅलाेनी के मैदान में छाेड़ दिया। वहां आवारा कुत्ते घूम रहे थे। दसवीं में पढ़ने वाली बच्ची श्रुति ने जब यह मंजर देखा ताे हैरान रह गई। उसने महिला काे आवाज देकर राेका। काफी मान-मनाैव्वल की। इसके बाद मां ने अपनी बच्ची काे आंचल में छिपा लिया।

हाता निवासी कुंती देवी ने कहा-मेरी शादी 2007 में संजय प्रजापति से हुई थी। पहली बेटी हुई ताे सबकुछ ठीक-ठाक था। दूसरी बेटी पैदा हाेने पर पति चिड़चिड़ा हाे गया। छाेटी-छाेटी बाताें पर नाेकझाेंक हाेने लगी। पति बेटा चाहता था, लेकिन 16 दिन पहले फिर तीसरी बेटी पैदा हुई। अस्पताल से घर जाते ही पति ने मारपीट शुरू कर दी। वह बच्ची काे देखना भी पसंद नहीं करता था। पति की प्रताड़ना से तंग आकर मैंने साेचा कि मेरी बहन घाेड़ाबांधा में रहती है।

उधर ही बच्ची काे सुनसान जगह पर छाेड़ दूंगी। शुक्रवार सुबह 10 बजे घर से निकली। टेंपाे बदल-बदल कर घूमती रही और आखिरकार टेल्काे के टीआरएफ काॅलाेनी के मैदान में पहुंच गई। वहां बच्ची काे छाेड़कर वापस जा ही रही थी कि एक बच्ची ने देखा लिया। आवाज लगाई ताे काफी लाेग जुट गए। उस बच्ची की मान-मनाैव्वल देखकर मेरा सीना भी पसीज गया और मैंने अपनी बच्ची काे आंचल में छिपा लिया।

श्रुति बाेली...मां ने आपबीती सुनाई तो मैंने पुलिस को फोन कर बुला लिया

श्रुति तिवारी ने कहा- मैं टीआरएफ कॉलोनी में खड़ी थी। तभी महिला बच्ची को गोद में लेकर पहुंची। एक मिनट वहां रुकी और बच्ची को जमीन पर छोड़कर जाने लगी। पहले मैं कुछ समझ नहीं पाई। महिला कुछ ही दूर गई थी कि आवारा कुत्ते जमीन पर पड़ी बच्ची को नोंचने दौड़े।

मैंने अपनी परवाह किए बगैर कुत्तों से बच्ची को बचाया। आवाज देकर महिला को रोका। शोर सुनकर आसपास के लोग पहुंचे। महिला ने जब अपनी आपबीती बताई तो मैंने पुलिस को फोन कर के बुलाया।

थाने में पति ने लिखकर दिया-पत्नी को कभी नहीं पीटूंगा, तब पुलिस ने छोड़ा

घटना दाेपहर 1:30 बजे की है। लाेग जुटे ताे टेल्काे पुलिस काे सूचना दी गई। लेकिन पुलिस तीन घंटे के बाद पहुंची और महिला व बच्ची काे अपने साथ ले गई। पति काे थाना बुलाया गया। दाेनाें से अलग-अलग पूछताछ की। पत्नी ने पति पर मारपीट का आराेप लगाया जिससे पति ने इनकार कर दिया।

काफी समझाने-बुझाने के बाद दाेनाें में लिखित समझाैता हुआ। पति ने लिखकर दिया कि वह पत्नी काे कभी नहीं पीटेगा। उसे अपने साथ रखेगा। इसके बाद थाने से दाेनाें काे छाेड़ा गया।

मां की आपबीती

एक बच्ची के जन्म तक सब ठीक-ठाक था। दूसरी बच्ची के पैदा होते ही पति से अनबन शुरू हो गई। जब तीसरी बच्ची पैदा हुई, तो अस्पताल से लौटते ही मेरी पिटाई शुरू कर दी। इससे परेशान थी

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव - आर्थिक स्थिति में सुधार लाने के लिए आप अपने प्रयासों में कुछ परिवर्तन लाएंगे और इसमें आपको कामयाबी भी मिलेगी। कुछ समय घर में बागवानी करने तथा बच्चों के साथ व्यतीत करने से मानसिक सुकून मिलेगा...

    और पढ़ें