भास्कर खास:ओवरऑल ग्रुप में 8 व उपश्रेणी समूह में चयनित विद्यालयों में से 6 विद्यालयों को राज्य व जिलास्तर पर मिलेगा अवार्ड

मेदिनीनगरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
प्राथमिक शिक्षक महाविद्यालय की जांच करते अधिकारी। - Dainik Bhaskar
प्राथमिक शिक्षक महाविद्यालय की जांच करते अधिकारी।

सरकार की अधिकतर योजनाएं धरातल पर उतरते-उतरते दम तोड़ देती हैं। इसका कोई एक वजह नहीं, बल्कि कई कारण रहे हैं। लेकिन इन सबमें जो सबसे अहम कारण रहा है, वह है इसका इम्प्लीमेंटेशन करने वाले उन कर्मियों और पदाधिकारियों की अगंभीरता व उनकी अकार्यशीलता, जिनके जिम्मे सही मायने में इन योजनाओं और अभियानों को सफल करने की जिम्मेवारी होती है।

इन विभागों में शिक्षा विभाग भी एक ऐसा ही विभाग है, जहां किसी भी कार्यक्रम को सफलीभूत करने के बजाय विभागीय कर्मचारी व पदाधिकारी बस ऊपर के आदेश पर अमल करने की औपचारिकता में लग जाते हैं।

शिक्षा विभाग द्वारा स्वच्छ विद्यालय पुरस्कार के तहत अपने कर्मियों व अधिकारियों को ऐसे विद्यालयों के चयन का निर्देश गया है, जो विद्यालय स्वच्छता के लिए तय मानदंडों पर खरे उतरते हैं। ऐसे विद्यालयों को समान्नित करने के प्रावधान के तहत उन्हें जिला, राज्य और नेशनल स्तर पर पुरस्कृत किया जाना है।

लेकिन आश्चर्य की बात यह है कि इस मामले में भी संबंधित कर्मी व पदाधिकारी बस आदेश का पालन ही कर रहे हैं। इनके लिए यह जरूरी नहीं कि कोई स्कूल उन मानदंडों को पूरा करता है या नहीं, बल्कि उनके लिए महत्वपूर्ण यह है कि जितने स्कूलों को चुनकर राज्य में भेजा जाना है।

ग्रामीण व शहरी पुरस्कार की श्रेणी में भी अवार्ड

उल्लेखनीय है कि स्वच्छ विद्यालय पुरस्कार के तहत ग्रामीण और शहरी पुरस्कार की कैटेगरी में संपूर्ण व उपश्रेणी वर्ग में कुल 38 स्कूलों को पुरस्कृत किया जाना है। इनमें संपूर्ण श्रेणी वर्ग में अर्थात ओवरऑल ग्रुप में 8 विद्यालयों को व उपश्रेणी समूह में चयनित 30 विद्यालयों में से 6 विद्यालयों को राज्य स्तर पर भेजा जाना है।

जबकि सभी 38 विद्यालयों को जिला स्तर पर भी पुरस्कृत किया जाएगा। इसके लिए 4 व 5 स्टार के वर्ग में ओवरऑल व उपश्रेणी के तहत इनका चयन किया जाना है।

स्कूलों के चयन का कार्य लगभग हो चुका है पूरा
इस संबंध में समग्र शिक्षा अभियान के सहायक अभियंता दिलीप कुमार सिंह का कहना है कि स्वच्छ विद्यालय पुरस्कार को लेकर स्कूलों के चयन का कार्य लगभग पूरा हो चुका है। हमारे पास ब्लॉक स्तर से 5 स्टार और 4 स्टार वाले स्कूलों की सूची आ चुकी है। जिलास्तर पर उसका वेरिफिकेशन बाकी है।

खबरें और भी हैं...