अंतर्राज्यीय गिरोह का खुलासा:अपराधियों ने व्यवसायी से मांगी थी दो करोड़ रंगदारी, नहीं देने पर की फायरिंग

मेदिनीनगर10 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
पलामू एसपी, पीछे खड़े अपराधी, टेबुल पर रखा जब्त हथियार - Dainik Bhaskar
पलामू एसपी, पीछे खड़े अपराधी, टेबुल पर रखा जब्त हथियार

पलामू पुलिस ने रंगदारी नहीं देने पर रेहला के हार्डवेयर व्यवसायी राजन कुमार सोनी पर गोली चलाने वाले अंतर्राज्यीय गिरोह का खुलासा कर दिया है। पुलिस ने गिरोह के आठ सदस्यों को गिरफ्तार कर लिया है। इसमें यूपी के चंदौली का आनंद कुमार दूबे (सरगना), गोंडा जिला के मनकापुर का दिव्यांश शुक्ला, कोतवाली थाना के इमलिया गुरुदयाल का आशुतोष दीक्षित, कोतवाली थाना के मोहनलालगंज का अभिषेक तिवारी, विंढमगंज थाना के धरती डोलवा का सूरज कुमार पासवान, रेहला थाना के मायापुर का श्याम प्रसाद, कवलारी शर्मा व उसका पुत्र अमित कुमार विश्व कर्मा शामिल है।

पलामू एसपी चंदन कुमार सिन्हा ने बुधवार को अपने वेश्म में पत्रकारों को बताया कि अपराधियों ने हार्डवेयर व्यवसायी राजन कुमार कुमार सोनी से बीते 17 जनवरी को दो करोड़ की रंगदारी मांगी थी। रंगदारी नहीं देने पर उसी शाम दुकान पर दो राउंड गोली भी चलाई थी।

जिसका सीसी टीवी में रिकॉर्ड आने पर उसके आधार पर पुलिस ने अनुसंधान शुरू किया। इसमें गैरेज मिस्त्री कवलारी शर्मा के संलिप्त होने के सबूत मिले। उससे पूछताछ में मामले का खुलासा हो गया। उसके आधार पर झारखंड, छत्त सगढ़ और यूपी में छापेमारी कर अपराधियों को गिरफ्तार किया गया।

पंडवा, नावा बाजार और उंटारी रोड क्षेत्र में तीन सीएसपी में की थी लूटपाट पलामू एसपी ने बताया कि इस गिरोह के सदस्य तीन सीएसपी व बंधन बैंक में हुई लूट में शामिल रहे हैं। इसमें 22 जुलाई 2022 को पंडवा थाना के द्वारपार सीएसपी, 22 दिसंबर 2022 को नावा बाजार थाना के कंडा सीएसपी, 27 दिसंबर 2022 को उंटारी रोड थाना के पांडेयपुरा सीएसपी और 30 दिसंबर 2022 को विश्रामपुर के बंधन बैंक में लूट शामिल है।

उन्होंने बताया कि बंधन बैंक में हुई लूट में इनके अलावा छत्तीसगढ़ के भाट्ठापारा थाना के खैरताल का शिवा सत्यम शामिल है। जो किसी मामले में छत्तीसगढ़ जेल में बंद था, को पुलिस ट्रांजिट रिमांड पर लेकर आई है।

पुलिस ने बैंकिंग यूनिट से लूटे गए एक डेस्कटॉप, दो सीपीयू, बैंक कर्मी का मोबाइल फोन व कागजात बरामद किया है। उन्होंने बताया कि गिरोह ने छतरपुर, पिपरा, हरिहरगंज, पड़वा, पाटन और सदर थाना के कई सीएसपी केंद्रों की रेकी की थी।

अगर गिरोह का खुलासा नहीं होता तो उपरोक्त थाना के सीएसपी में लूट संभव थी। मौके पर विश्रामपुर एसडीपीओ सुरजीत कुमार, विश्रामपुर थाना प्रभारी शशि रंजन आदि मौजूद थे।

एसपी ने बताया कि अपराधियों के पास से 7.65 एमएम की तीन देसी पिस्टल, 7.65 एमएम की तीन मैगजीन व सात गोली, 315 बोर का तीन देसी कट्टा व पांच गोली, चार स्मार्टफोन व चार की पैड मोबाइल, तीन नया सीम, एक अपाची, एक पल्सर, एक ग्लैमर बाइक व एक स्कूटी बरामद किया गया। इसमें से दो बाइक चोरी की है।

खबरें और भी हैं...