• Hindi News
  • Local
  • Jharkhand
  • Ranchi
  • Balumath
  • There Is A Possibility Of A Big Scam In Magadha Colliery, Demand For Investigation The Weight Of 1016 Vehicles In 24 Hours With A Fork, Knowledgeable Not Possible

तुलावटी कांटे में छेडछाड़ की अशंका:मगध काेलियरी में बड़े घोटाले होने की आशंका जांच की मांग-एक कांटा से 24 घंटे में 1016 वाहनों का वजन, जानकार बाेले-संभव नहीं

बालूमाथएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
परियोजना क्षेत्र में लगा बोर्ड। - Dainik Bhaskar
परियोजना क्षेत्र में लगा बोर्ड।
  • आशंका व्यक्त की जा रही है कि ऐसा कारनामा सीसीएल व ट्रांसपोर्टर की मिलीभगत से किया गया

सीसीएल द्वारा संचालित मगध कोलियरी में एक दिन में कांटा नंबर 13 से 1016 वाहन का वजन कर 10243.13 मीट्रिक टन कोयला निकाल कर सबको चौंका दिया है। सिर्फ एक कांटा से इतना बड़े पैमाने पर वाहनों का वजन कराना एवं कोयले का निकासी करना कई प्रश्नों को जन्म दे रहा है।

कोयला जानकारों के अनुसार आरसीआर कोयला ट्रांसपोर्ट करने में खाली एवं लोड हाइवा का वजन कराना अनिवार्य होता है। सीसीएल ने 2 नवंबर को सिर्फ कांटा नंबर 13 से 508 खाली वाहन एवं 508 लोड वाहन का वजन करा कर 10243 मीट्रिक टन कोयला निकाले जाने की रिपोर्ट वरीय पदाधिकारी को भेजी है।

इधर 24 घंटे में इतने वाहनों का कांटा किए जाने से के बाद बड़े घोटाले की संभावना की बू आ रही है। जानकारों ने बताया कि एक खाली वाहन एवं लोड वाहन को वजन करने में कम से कम 5 मिनट का समय लगता है।

इस तरह देखा जाए तो 24 घंटे में तीन बार कांटा बाबू का रिलीवर होता है और तीनों टाइम एक-एक घंटा का समय लिया जाता है। अब 21 घंटे में देखा जाए तो मात्र ढाई मिनट में ही खाली वाहन एवं लोड वाहन का वजन कैसे संभव होगा, लेकिन यह कारनामा सीसीएल ने कर दिखाया है। ज्ञात हो कि 2 नवंबर को आरसीआर ग्रेड-2 कोयला ढुलाई किए जाने का रिपोर्ट मगध कोलियरी ने वरीय पदाधिकारियों को दी गई है।

इसमें जीवीके 340 ट्रिप , हिंडालको 15, टाटा पावर 01, उड़ीसा मैटेलिक 82, ललितपुर 10, रेशमी 57 एवं जानकी कुक्स 03ट्रिप खाली एवं लोड वाहन का कांटा करा कर 10243 मीट्रिक टन कोयला मगध कोलियरी से बुकरू एवं बालूमाथ साइडिंग भेजी गई है।

मगध कोलियरी के एक अन्य कांटा बाबू ने बताया कि किसी भी परिस्थिति में एक दिन में इतना वाहन का लोड कांटा नहीं किया जा सकता। इधर आशंका व्यक्त की जा रही है कि उस दिन ऐसा कारनामा सीसीएल एवं ट्रांसपोर्टर की मिलीभगत से किया गया है।

स्थानीय कोयला कारोबारियों ने सीसीएल के सीएमडी एवं लातेहार उपायुक्त से जांच की मांग करते हुए कहा गया है कि 2 नवंबर को काटा नंबर 13 के सीसीटीवी कैमरा का फुटेज निकालकर पूरे मामले काे देखा जाए।

बहरहाल जो भी हो इस पूरे मामले की जांच सही से करा दिया जाए तो कई बड़े चौंकाऊ तथ्य सामने आने की संभावना से इनकार नहीं किया जा सकता है।

इस संबंध में मगध कोलियरी के परियोजना पदाधिकारी नृपेंद्र नाथ से पूछे जाने पर कहा कि ढाई मिनट में लोड एवं अनलोड गाड़ी का कांटा किया जा सकता है।

लातेहार डीएमओ आनंद कुमार से पूछे जाने पर कहा कि अगर यह सूचना मेरे पास प्रमाण के साथ आता है तो मैं भी सीसीएल को नोटिस कर पूछूंगा।

खबरें और भी हैं...