पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

एतराज:बिजली के मुद्दे पर बिजली विभाग व जियाडा के उद्योगपति आमने-सामने

बरहीएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • दोनों दे रहे अपना अपना तर्क, एसडीओ ने समन्वय बनाकर काम करने की दी नसीहत

रियाडा अधिग्रहित जमीन पर 10 प्लॉट में कई कंपनियां अपना-अपना यूनिट लगा रही हैं। बड़ी-बड़ी कंपनियां के द्वारा अपने यूनिट तक बिजली पहुंचाने के लिए डीवीसी का सहारा लिया जा रहा है। बड़े यूनिट डीवीडी से डायरेक्ट बिजली आपूर्ति करवा रहे हैं। जबकि छोटे-छोटे यूनिट झारखंड बिजली वितरण निगम लिमिटेड से बिजली प्राप्त करेंगे। इसी को लेकर झारखंड बिजली वितरण निगम लिमिटेड के द्वारा रियाडा के अधिग्रहित जमीन में ही पावर सब स्टेशन का वितरण यूनिट का निर्माण कराया जा रहा है। जिसको लेकर रियाडा में बनाए जा रहे बड़े-बड़े यूनिट के संचालक झारखंड बिजली वितरण निगम लिमिटेड के द्वारा  बनाए जा रहे सब स्टेशन तक बिजली और तार ले जाने के रुट के तरीकों पर एतराज जताया है।

जियाडा के मैन्युफैक्चरिंग एसोसिएशन अध्यक्ष पीके गर्ग ने एतराज जताते हुए कहा है कि जिस तरह से झारखंड बिजली वितरण निगम लिमिटेड बिजली आपूर्ति के लिए पोल एवं तार लगा रहा है, उससे कभी भी बड़ा हादसा हो सकता है। इस बाबत उन्होंने प्रेस बयान जारी करते हुए कहा है कि बरही में मौजूदा जेबीवीएनएल सबस्टेशन से 33 आरवी लाइन का निर्माण करके रियाडा सबस्टेशन को चार्ज करना चाहते हैं। जिससे पोल एवं तार स्थानीय क्षेत्रों के माध्यम से 3 से 4 किलोमीटर के पार जाना औद्योगिक क्षेत्र की सेवा सड़क को अवरुद्ध करता है ।

जिससे सामान्य कामकाज में गड़बड़ी हो सकती है। उन्होंने कहा कि सार्वजनिक धन का दुरुपयोग हो रहा है।  क्योंकि इस सबस्टेशन को सिर्फ आधा किलोमीटर लाइन से चार्ज किया जा सकता है। एक डीवीसी विद्युत आपूर्ति लाइन से जियाडा निर्माणाधीन औद्योगिक क्षेत्र को जानबूझकर परेशान किया जा रहा है। वे स्थानीय सरकार के अधिकारियों को भी मार्ग का नक्शा दिखाने में पारदर्शी नहीं हैं। गुरुवार को दोनों पक्षो में विवाद होने पर सीओ ब्रजेश श्रीवास्तव घटनास्थल पर पहुंचे और दोनों पक्षों की बात सुनी।

मामले की गंभीरता को देखते हुए सभी एसडीओ कुमार ताराचंद के पास पहुंचे। एसडीओ के पास दोनों पक्षों ने अपना अपना तर्क रखा। बिजली विभाग के एसडीओ सौरव लिंडा ने कहा कि बिजली विभाग की ओर से जहाँ सब स्टेशन बनाई जा रही है।   वहाँ डीवीसी से लाइन नही आएगा। बल्कि बरही सब स्टेशन से आएगा। उसके लिए जो रूट अप्रूव है। उसी रूट में काम किया जा रहे है। इस यूनिट से छोटे छोटे कंपनी को बिजली आपूर्ति की जा रही है। इसी यूनिट से विजैया तक लाइन आपूर्ति की जाएगी। जिसके लिए 33 आरवी का तार ले जाना ही होगा। बेहतर होता कि डीवीसी से लाया जा रहा तार को  बड़े यूनिट वाले लोग अंडर ग्राउंड ले जाते। इससे कोई समस्या नही आएगी।  दोनों पक्ष को सुनने के बाद एसडीएम ने दोनों पक्ष को समन्वय बनाकर काम करने की सलाह दी।

0

आज का राशिफल

मेष
मेष|Aries

पॉजिटिव- मेष राशि के लिए ग्रह गोचर बेहतरीन परिस्थितियां तैयार कर रहा है। आप अपने अंदर अद्भुत ऊर्जा व आत्मविश्वास महसूस करेंगे। तथा आपकी कार्य क्षमता में भी इजाफा होगा। युवा वर्ग को भी कोई मन मुताबिक क...

और पढ़ें