मजदूरों की मजबूरी / 4 प्रवासी मजदूरों काे लोगों ने घर के अंदर जाने नहीं दिया

4 Migrant laborers did not let people go inside the house
X
4 Migrant laborers did not let people go inside the house

  • महाराष्ट्र के रायगढ़ से आए 3 युवक व 1 युवती काे पीएम अावास में रात गुजारनी पड़ी

दैनिक भास्कर

May 21, 2020, 05:00 AM IST

बसिया. प्रखण्ड के तेतरा गांव में महाराष्ट्र के रायगढ़ से आए प्रवासी मजदूरों को तेतरा गांव के ग्रामीणों ने घर घुसने से रोक दिया। मजदूरों ने अधूरे प्रधानमंत्री आवास में शरण लेकर रात बिताई। प्रशासन के सहयोग से मजदूर परिजनों के साथ घर पहुंचे। जानकारी के अनुसार करोना महामारी में अपने घर लौटने के क्रम में मंगलवार को तेतरा निवासी तीन युवक और एक युवती बसिया पहुंचे, जिसकी सूचना गांव के लोगों ने प्रशासन को दी, तभी प्रशासन ने चारों प्रवासी मजदूरों को रेफरल अस्पताल बसिया में जांच कराकर होम क्वारेंटाइन में भेज दिया, क्योंकि चारों मजदूर ग्रीन जाेन से आए थे। परन्तु गांव के लोगाें ने गांव में घुसने देने से मना कर दिया। 
बीडीओ रविन्द्र कुमार गुप्ता, सीओ संतोष बैठा ने मजदूरों से स्थिति की जानकारी ली और ग्रामीणाें को समझाया, कहा इनकी जांच हो गई है, उसके बाद चारों मजदूर को उनके परिजनों के साथ घर भेजा दिया गया तथा चारों मजदूर को चौदह दिन तक घर से बाहर नहीं निकलने की सलाह दी। इस अवसर पर मुखिया टेरेसा लकड़ा तथा वार्ड सदस्य उपस्थित थे।
अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी में फंसे  200 छात्राें काे वापस लाने की मांग
गुमला | झामुमो अल्पसंख्यक मोर्चा के अध्यक्ष सह नगर परिषद उपाध्यक्ष कलीम अख्तर व सचिव शादाब नैयर ने सीएम के नाम उपायुक्त को ज्ञापन सौंपा है। जिसमें अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी में फंसे छात्रों को झारखंड वापस लाने की मांग की है। ज्ञापन में कहा गया है कि यूनिवर्सिटी में लॉकडाउन के कारण झारखंड के करीब 200 छात्र फंसे हुए है। लॉकडाउन की अवधि काफी लंबी होने के कारण छात्रों को अनेक कठिनाइयों का सामना करना पड़ रहा है। सभी छात्र जल्द से जल्द अपने-अपने घर वापस आने के लिए काफी चिंतित और परेशान है। यूनिवर्सिटी द्वारा छात्रों को झारखंड भेजने की सभी प्रक्रियाएं पूरी की जा चुकी है। इसलिए निवेदन है कि यूनिवर्सिटी में फंसे हुए सभी छात्रों को जल्द ही सकुशल झारखंड वापस लाने की कृपा की जाए। 

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना