• Hindi News
  • Local
  • Jharkhand
  • Ranchi
  • Chandwara
  • Out of 83 cattle being transported by trucks, 22 were killed by suffocation, three trucks seized, 4 including the driver were arrested, were being taken from Bihar to Kolkata under straw bags.

मवेशियों की मौत / ट्रकाें से ले जा रहे 83 मवेशियाें में दम घुटने से 22 की माैत, तीन ट्रक जब्त, चालक समेत 4 गिरफ्तार, भूसे की बोरियाें के नीचे छिपा कर ले जा रहे थे बिहार से कोलकाता

Out of 83 cattle being transported by trucks, 22 were killed by suffocation, three trucks seized, 4 including the driver were arrested, were being taken from Bihar to Kolkata under straw bags.
X
Out of 83 cattle being transported by trucks, 22 were killed by suffocation, three trucks seized, 4 including the driver were arrested, were being taken from Bihar to Kolkata under straw bags.

दैनिक भास्कर

May 21, 2020, 05:29 AM IST

चंदवारा. रांची-पटना मुख्य मार्ग पर बने चेकनाका के समीप पुलिस ने बुधवार की सुबह 3 बजे मवेशी लदे तीन ट्रकों को जब्त किया है। ट्रकों में मवेशियों को भरकर बिहार से कोलकाता ले जाया जा रहा था। ट्रकों में भूसे की बाेरियाें के नीचे 83 मवेशी थे, जिसमें 22 पशुओं की दम घुटने से मौत हो चुकी थी। जब्त मवेशियों को कोडरमा गोशाला को सौंपा गया है। वहीं, मामले मंे वाहनों के चालक सहित 4 लोगों को गिरफ्तार किया है। पकड़े गए आराेपियाें में चतरा के धमधामा निवासी चालक शादाब खान, गिरिडीह के बगाेदर, हेसला निवासी नसीम अंसारी व जावेद अंसारी और बिहार के गया में कोठी गांव का रहनेवाला साबिर खान शामिल है। थाना प्रभारी शाहिद रजा ने बताया कि बिहार की ओर से मवेशी लदे वाहन के आने की सूचना मिली थी। इसके बाद चेक पोस्ट पर बैरियर लगाने व ट्रक की जांच करने का निर्देश दिया था। अहले सुबह 3 बजे वहां पशु लदे तीन ट्रकाें को जब्त किया गया। तीनों ट्रकों काे सासाराम से पशु लोड कर काेलकाता ले जाया जा रहा था। ट्रक पर 83 मवेशी थे, जिनमें 22 की माैत हाे चुकी थी। जिले में इतनी भारी संख्या में तस्करी कर ले जाए जा रहे पशुओं की बरामदगी का यह पहला मामला है। डीएसपी संजीव कुमार ने बताया कि पशु तस्करी के मामले में गिरफ्तार चालक सहित व्यापारियों और कुछ अन्य लोगों के विरुद्ध पशु क्रुरता अधिनियम के तहत मामला दर्ज किया जा रहा है। जब्त किए गए पशुओं के सिंगाें को दाे रंगाें में रंगा पाया गया। इसे अंदेशा जताया जा रहा है कि ले जाए जा रहे पशु दो व्यापारियों के थे। हालांकि, हिरासत में लिए गए ट्रक चालक ने पशु किसके थे, इसकी जानकारी नहीं दी है। 
धूल झोंकने के लिए ट्रक पर भूसे की बोरी
पुलिस की आंखों में धूल झोंकने के लिए तस्करों ने सभी ट्रक पर बोरी में भूसा भरकर रखा था। निचले हिस्से में मिट्‌टी व दोनों साइड थर्माेकाेल चिपका दिए गए थे, ताकि मवेशी का मलमूत्र ट्रक के बाहर न निकल सके। ट्रकाें के शीशे पर खाद्य मंत्रालय द्वारा आवश्यक वस्तुओं के परिवहन को लेकर जारी आदेश की कॉपी चिपकाई गई थी, ताकि विभिन्न राज्यों की सीमा पर वाहनाें की जांच से बचा जा सके। यही वजह है कि सासाराम से मवेशी लेकर चले ट्रकों कहीं रोका नहीं।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना