पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

राहत की सांस:बिजली- ब्रेकडाउन के कारण कर्मी फॉल्ट ढूंढते रहे, सुबह हो पाई ठीक

चतरा23 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • सुबह में बिजली आने के बाद लोगों ने राहत की सांस ली

जिला 15 घंटे अंधेरे में रहा। बिजली आपूर्ति ठप रहने से लोगों ने रात उमस भरी गर्मी में गुजरी। पेयजलापूर्ति भी प्रभावित रहा। बताया जाता है कि शनिवार की रात सात बजे बिजली गुल हो गई। यह स्थिति बिजली के ब्रेकडाउन होने के कारण उत्पन्न हुई थी। हालांकि बिजली विभाग के कनीय अभियंता और कर्मियों ने रात में ही ब्रेकडाउन को दुरुस्त करने का प्रयास किया। लेकिन फॉल्ट नहीं मिलने के कारण रात में ब्रेकडाउन दुरुस्त नहीं हो पाया। कर्मियों ने सुबह 10 बजे ब्रेकडाउन की मरम्मति कर बिजली आपूर्ति चालू कराई।

सुबह में बिजली आने के बाद लोगों ने राहत की सांस ली। इस संबंध में बिजली विभाग के कनीय अभियंता मंटू कुमार ने बताया कि रात 7 बजे बिजली चली गई। इसकी तहकीकात करने पर पता चला कि चतरा इटखोरी के बीच बीजली का ब्रेकडाउन हो गया है। इसके बाद उन्होंने कर्मियों के बिजली फाॅल्ट ढूंढने के लिए निकल पड़े। रात 12 बजे तक बिजली पोल को देखते हुए जंगलों की छान मारते रहे। लेकिन फाॅल्ट नहीं मिला। इसके कारण रात को सभी लौट आए। रविवार की अहले सुबह बिजली विभाग की टीम फॉल्ट ढूंढने फिर निकल गई। सुबह 10 बजे तक ब्रेकडाउन की मरम्मति कर बिजली बहाल कर दिया।

खबरें और भी हैं...