महा गठबंधन:कृषि कानून व मंहगाई के विरोध में यूपीए महागठबंधन के कार्यकर्ताओं का धरना

चतरा2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

केंद्र सरकार द्वारा लाए गए तीन कृषि कानूनों को वापस लेने, डीजल पेट्रोल के दामों में बढ़ोत्तरी को कम करने और बेतहाशा मंहगाई पर रोक लगाने की मांग को लेकर बुधवार को यूपीए महा गठबंधन के कार्यकर्ताओं ने समाहरणालय के पास एक दिवसीय धरना दिया। कार्यक्रम का नेतृत्व चतरा जिला कांग्रेस अध्यक्ष प्रमोद कुमार दुबे कर रहे थे। मंच का संचालन राजद जिला अध्यक्ष नवल किशोर यादव ने किया।

धरना प्रदर्शन के बाद एक प्रतिनिधि मंडल डीसी के माध्यम से राष्ट्रपति को ज्ञापन सौंप कर कृषि कानून को वापस लेने, पेट्रोल डीजल के दाम में कमी लाने तथा मंहगाई कम करने की मांग की गई। धरना को संबोधित करते हुए जिला कांग्रेस अध्यक्ष प्रमोद कुमार दुबे ने कहा कि देश के किसान तीन काले कृषि कानूनों के खिलाफ लगभग एक साल से धरने पर बैठे हैं, पर किसान विरोधी केंद्र सरकार उनकी मांगों को अनसुना कर रही है।

देश की जनता डीजल पेट्रोल के दामों में बढ़ोत्तरी से त्राहिमाम कर रही है। कमरतोड़ महंगाई से परेशान हैं। पर केंद्र सरकार पूंजी पतियों के इशारे पर उनके लाभ के लिए कार्य कर रही है। केंद्र सरकार को नींद से जगाने और जनविरोधी नीतियों का विरोध करने के लिए यूपीए महा गठबंधन लगातार आंदोलन कर रहीं है।

महा गठबंधन जब तक केंद्र सरकार को उखाड़ नही लेगा जनांदोलन करती रहेगी। धरना में झामुमो नेता राजकिशोर कमल उर्फ पिंकू, ओम प्रकाश पाठक, प्रमोद कुमार त्रिवेदी, संतोष केशरी, नसरुद्दीन, मुबारक अंसारी, आभा ओझा, बजरंगी कसेरा, अजीमुद्दीन ख्वाजा, अनिल सिंह, संजय कुमार जायसवाल, प्रतीक प्रकाश अंगार, रविंद्र कुमार सिंह, संतोष नायक, दिनेश पांडेय, धनेश्वर गंझु, कैलाश सिंह, प्रकाश राम, रंजन अकेला, डब्ल्यू सोनी, सत्येंद्र नारायण शर्मा उर्फ सीटू, राजेंद्र कसेरा, बबलू, डब्ल्यू, पुरुषोत्तम उपस्थित थे।

खबरें और भी हैं...