प्रसाद का वितरण:छिन्नमस्तिके मंदिर में कलश स्थापित, नवरात्र पूजा शुरू

चितरपुर12 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • रजरप्पा मंदिर में कलश स्थापना के साथ शारदीय नवरात्र हुआ प्रारंभ, पूजा में जुटे भक्त

प्रसिद्ध सिद्धपीठ रजरप्पा स्थित मां छिन्नमस्तिका मंदिर में गुरूवार को कलश स्थापना के साथ आठ दिवसीय शारदीय नवरात्र प्रारंभ हो गया। नवरात्र के पहले दिन मां दुर्गा के प्रथम स्वरूप माता शैलपुत्री की आराधना पूरे भक्तिभाव से की गई। स्थानीय पुजारियों के अनुसार, सिद्धपीठ रजरप्पा स्थित छिन्नमस्तिके मंदिर प्रक्षेत्र जागृत पीठ के रूप में माना जाता है। इसके कारण झारखंड सहित बिहार, उत्तर प्रदेश, पश्चिम बंगाल, छत्तीसगढ़ सहित आसपास के अन्य राज्यों से साधक यहां पहुंचकर साधना करते हैं।

शारदीय नवरात्र को लेकर देश के विभिन्न राज्यों से पहुंचे कई भक्तों ने मां छिन्नमस्तिके की पूजा-अर्चना कर आशीर्वाद लिया और सुख-समृद्धि की कामना की। जबकि देश के कई क्षेत्रों से पहुंचे साधक और भक्त मंदिर क्षेत्र के विभिन्न हवन कुंडों में माता की आराधना करने में लीन पाए गए।

मंदिर न्यास समिति के सचिव सुभाशीष पंडा ने बताया कि शारदीय नवरात्र को लेकर यहां सरकार द्वारा जारी कोरोना गाइडलाइन के तहत पूजा-अर्चना और दर्शन कराया जा रहा है। नवरात्रि के पहले दिन मां शैलपुत्री की आराधना की गई। साथ ही मां भगवती को भोग लगाने के पश्चात श्रद्धालुओं के बीच भोग प्रसाद का वितरण भी किया गया।

खबरें और भी हैं...