प्रतिरोधक क्षमता:बाल विकास परियोजना कार्यालय धुरकी में मना विश्व स्तनपान सप्ताह

धुरकी3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

प्रखंड कार्यालय परिसर स्थित बाल विकास परियोजना कार्यालय की महिला पर्यवेक्षिका अंजना कुमारी ने प्रखंड के सभी आंगनवाड़ी केंद्र की सेविकाओं के साथ शनिवार को मनाया विश्व स्तनपान सप्ताह। इस दौरान महिला पर्यवेक्षिका ने कहा की ग्रामीण महिलाओं के बीच माता के दूध के बारे में विशेष रूप से चर्चा करते हुए सेविकाओं को बताया की जन्म लेने के बाद ही बच्चे को अपने माता का दूध पिलाना चाहिए।

उन्होंने कहा की मा के दुध से बच्चे के अंदर प्रतिरोधक क्षमता में वृद्धि होता है। मां का प्रथम दूध गाढ़ा एवं पीला होता है जो बच्चों के बीमारियों में भरपूर रक्षा करता है। महिला पर्यवेक्षिका ने कहा की यह दूध बच्चों में टीकाकरण से भी बढ़कर है तथा अमृत है। जो माता अपने बच्चों को जन्म के बाद दूध नहीं पिलाती हैं उनका बच्चा कुपोषित हो जाता है।

इस दौरान महिला पर्यवेक्षिका ने प्रखंड कार्यालय परिसर मे सेविकाओं के साथ रैली भी निकाली। इस दौरान सेविका रिजवाना खातुन, रेहाना खातून, किरण देवी के अलावे सभी सेविकाएं मौजूद थी।

खबरें और भी हैं...