पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

अन्नदाता पर राजनीति:धान का बकाया भुगतान के लिए 102 करोड़ दिए, 2.80 लाख किसानों का लोन माफी, राजनीति न करे भाजपा, : झामुमो

गढ़वाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

झारखंड मुक्ति मोर्चा के जिला प्रवक्ता धीरज दुबे ने किसानों के नाम पर भाजपा के एक दिवसीय धरना प्रदर्शन को दिखावा बताया है। उन्होंने कहा कि भाजपा के लोग किसान के नाम पर राजनीति और घड़ियाली आंसू बहाने का काम कर रहे हैं। अगर उन्हें सचमुच किसानों की चिंता होती तो आज देशभर के किसानों को दिल्ली बॉर्डर पर जाकर केंद्र सरकार के खिलाफ अपनी मांगों को लेकर आंदोलन नहीं करना पड़ता।

विगत कई महीनों से सर्दी, धूप एवं बरसात की परवाह किए वगैर किसान दिल्ली सीमा पर आंदोलनरत है बढ़ते डीजल के दाम से किसानों को कृषि यंत्र ट्रैक्टर और डीजल पंप चलाना मुश्किल हो गया है। उन्होंने कहा कि विगत दिनों ही मनरेगा मजदूर की मृत्यु पर हेमंत सरकार ने मृतक के परिजनों को 75 हजार रुपए सहायता राशि देने की घोषणा की है। मनरेगा की मजदूरी को भी बढ़ाते हुए 225 रुपये करने का काम किया है।

हरित क्रांति योजना के माध्यम से किसानों को जलकुंड बनाने के लिए प्लास्टिक, जैविक खाद और विभिन्न तरह के कीटनाशक दवाई व बागवानी के लिए पौधे उपलब्ध कराए जा रहे हैं। गांव की महिलाओं को स्वस्थ्य एवं समृद्ध बनाने के लिए राज्य सरकार झारखंड स्‍टेट लाइवलिहुड प्रमोशन सोसइटी (जेएसएलपीएस) के माध्यम से दीदी बाड़ी योजना चला रही है। मनरेगा के माध्यम से किसानों को खेती के लिए तालाब, कुआं आदि उपलब्ध कराएं जा रहे हैं। प्रखंड स्तर पर किसानों को मॉनसून के दौरान समय पर बीज उपलब्ध कराए जा रहे हैं।

खेत में प्रयोग किए जाने वाले कृषि यंत्र भी राज्य सरकार अनुदान पर किसानों को उपलब्ध करा रही हैं। राज्य सरकार ने धान का बकाया भुगतान के लिए विभिन्न जिलों को 102 करोड़ रुपए उपलब्ध करा दिए हैं। बाकी के शेष राशि भी जल्द उपलब्ध करा दिए जाएंगे। मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने चुनाव के दौरान किसान से किए ऋण माफी के वादे को भी पूरा करने का काम किया है। 2.48 लाख किसानों की कर्ज माफी के लिए बैंकों को 980 करोड़ रुपए उपलब्ध करा दिए गए हैं।

खबरें और भी हैं...