पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

हेराफेरी:मरने के 4 साल बाद बुजुर्ग को मिला आवास, 40 हजार रुपए की निकासी भी कर ली, परिवार को जानकारी नहीं

डंडई2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • डंडई के जरही में अवैध पैसों की निकासी का मामला, पंचायत सचिव से पूछने पर कुछ नहीं बोले

जरही गांव में मृत्यु के 4 वर्ष बाद एक बुजुर्ग को प्रधानमंत्री आवास मिल गया। और उसे आवास की पहली किस्त की राशि 40 हजार रुपए निकासी भी कर ली गई है। हैवानियत वाली बात यह है कि उस मृत बुजुर्ग व्यक्ति का प्रधानमंत्री आवास आईडी में उसका फैमिली मेंबरों की संख्या जीरो दिखाई गई है। मतलब कि उसका कोई भी पारिवारिक सदस्य नहीं है। यह आवास वित्तीय वर्ष 2020- 2021 दिया गया है। इसका जानकारी पाते ही ग्राम जरही निवासी धर्मेंद्र कुमार ने प्रधानमंत्री आवास में हुई गड़बड़ी को लेकर बीडीओ को लिखित आवेदन देकर जांच कर उचित कार्रवाई करने की मांग किया है।

बुजुर्ग के दो बेटे हैं, दोनों में किसी को नहीं मिला पैसा, बीडीओ बोले- आवेदन पर जांच की जाएगी

दिए गए लिखित आवेदन में आवेदक ने कहा है कि मेरे दादा का नाम प्रधानमंत्री आवास सूची में था। जिनका नाम धनेशर राम पिता मेवा राम है। परंतु मेरे दादा का 4 वर्ष पहले ही मृत्यु हो गई है। और उस आवास के नाम पर 3 अक्टूबर 2020 को 40 हजार रुपए की निकासी हुई है। जिसका आईडी जेएच1197292 है। कहा है कि मेरे दादा के 2 पुत्र मुटुर राम और लखन राम हैं। परंतु पूछने पर दोनों में से किसी ने पैसों की निकासी नहीं की हैं। आवेदक ने प्रखंड विकास पदाधिकारी से सवाल किया है कि विभाग की ओर से मृत व्यक्ति के नाम पर विभाग की ओर से पैसा कैसे छूट गया और निकासी हो गई। मामले में जरही पंचायत के पंचायत सचिव फौजदार साहू ने इस मामले में कुछ भी कहने से इनकार किया। वहीं प्रखंड विकास पदाधिकारी सोमा उरांव ने कहा है कि आवेदन पड़ा है। उस पर जांच की जाएगी । उसके बाद ही कुछ कहा जा सकता है। वैसे मृतक के परिजन को लाभ दिया जा सकता है।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- व्यस्तता के बावजूद आप अपने घर परिवार की खुशियों के लिए भी समय निकालेंगे। घर की देखरेख से संबंधित कुछ गतिविधियां होंगी। इस समय अपनी कार्य क्षमता पर पूर्ण विश्वास रखकर अपनी योजनाओं को कार्य रूप...

और पढ़ें

Open Dainik Bhaskar in...
  • Dainik Bhaskar App
  • BrowserBrowser