व्यवस्था का जायजा लिया:डीसी की सख्ती के बाद बंद पड़े आक्सीजन प्लांट चालू करने की कवायद, ट्रांसफार्मर लगा

गढ़वा20 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • पीएम केयर फंड से लगा आक्सीजन प्लांट बंद देख भड़के डीसी, लगाई फटकार

अखबारों में खबर प्रकाशित होने के बाद शुक्रवार को डीसी राजेश कुमार पाठक सदर अस्पताल पहुंचकर व्यवस्था का जायजा लिया। उस दौरान पीएम केयर फंड से लगा ऑक्सीजन प्लांट बंद देख डीसी स्वास्थ्य विभाग के पदाधिकारी और कर्मचारियों पर भड़क गए। डीसी ने जब ऑक्सीजन प्लांट के लिए टीम से पुछताछ की तो टीम के सदस्यों ने बताया कि ऑक्सीजन प्लांट को निरंतर चालू रखने के लिए व्यवस्था नहीं है। उसी बात को लेकर डीसी आग बबूला हो गए। उन्होंने कहा कि आज तक ऑक्सीजन प्लांट ठीक होने की बात कही गई। यह नहीं बताया गया कि ऑक्सीजन प्लांट चालू करने में परेशानी भी आ रही है।

डीसी ने स्थल से ही ऑक्सीजन प्लांट के नोडल पदाधिकारी डॉ अमित कुमार, शैलेन्द्र कुमार सहित तीन आउटसोर्सिग कर्मियों पर कार्रवाई करने का निर्देश दिया।उक्त कार्रवाई की बात सुनते ही चिकित्सक और कर्मी डीसी से समय की मांग की। उसके बाद डीसी ने एक घंटे में ऑक्सीजन प्लांट को शुरू करने का निर्देश दिया। उसके बाद डीसी वहां से चले गए। लेकिन एसडीओ राज महेश्वरम, जिला आपूर्ति पदाधिकारी विजेन्द्र कुमार और बीडीओ कुमुद झा वहीं घंटों कैम्प कर ऑक्सीजन प्लांट को शुरू कराया साथ ही ऑक्सीजन प्लांट को निर्वाध चालू रखने के लिए नया ट्रासंफार्मर स्थापित करावाया। सदर अस्पताल में पीएम केयर फंड से स्थापित ऑक्सीजन प्लांट बिजली आपूर्ति के अभाव में बाधित था। प्लांट को चलाने के लिए उच्च स्तरीय डीजी तो लगाया गया तो उसके संचालन में अधिक ईंधन खर्च हो रहे थे।

उसे लेकर डीसी ने बिजली विभाग को ट्रांसफार्मर लगाने को कहा था। पर आज तक ट्रांसफार्मर नहीं लगा। उस पर डीसी ने बिजली विभाग के पदाधिकारियों को जमकर फटकार लगाई। वहीं उर्जा विभाग को लिखने को भी कहा। उसके बाद बिजली विभाग के पदाधिकारियों ने ट्रांसफार्मर लगाने की कार्रवाई शुरू की। तब तक एसडीओ राज महेश्वरम, डीएसओ और बीडीओ वहीं पर बैठे रहे।

खबरें और भी हैं...