पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

जिला शिक्षा अधीक्षक गढ़वा से मुलाकात:अखिल झारखंड प्राथमिक शिक्षक संघ का प्रतिनिधिमंडल डीएसई से मिला, शिक्षकों की विभिन्न लंबित मांगें रखी

गढ़वा9 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

अखिल झारखंड प्राथमिक शिक्षक संघ की जिला इकाई का प्रतिनिधि मंडल 20 जुलाई को जिला शिक्षा अधीक्षक गढ़वा से मुलाकात की। जिलाध्यक्ष सुनील कुमार दुबे की अध्यक्षता में संघ का प्रतिनिधिमंडल जिला शिक्षा अधीक्षक से मिलकर शिक्षकों की विभिन्न लंबित मांगों की ओर ध्यान आकर्षित कराया। इस अवसर पर जिला शिक्षा अधीक्षक को एक ज्ञापन भी सौंपा गया। सौंपे गए ज्ञापन में संघ का प्रतिनिमण्डल ने कहा है कि जिले में स्नातक प्रशिक्षित पद ग्रेड 4 मे विभिन्न वर्षों यथा 2013, 2015 व 2017 मे प्रोन्नति दी गई।

जिनमें कनीय शिक्षकों को वरीय शिक्षको से पूर्व में प्रोन्नति दी गई। साथ ही इसे दूर किये बिना उन्हीं कनीय शिक्षकों को ग्रेड 7 मे प्रधानाध्यापक के पद पर प्रोन्नति दी जा रही है। जो विभागीय प्रोन्नति नियमावली 1993 व वर्तमान में बनाई गई मास्टर वरीयता सूची के प्रतिकूल है। इस कारण वर्ष 2017 मे प्रोन्नत सभी शिक्षकों को पद रिक्त व उपलब्ध होने की तिथि से वैचारिक प्रोन्नति देने की कृपा की जाय। वर्ष 2015-16 मे नियुक्त प्राथमिक शिक्षकों की सेवा संपुष्टि का कार्य प्रमाण पत्र सत्यापन हेतु कागजात जमा किए जाने के बावजूद नहीं हो सका है। इस कारण बहुत सारे शिक्षक, शिक्षिकाएं अंतरजिला स्थानांतरण से वंचित हैं। इसलिए इसे शीघ्र निष्पादित किए जाने की अपेक्षा है। वर्तमान स्थानांतरण नियमावली में ऑनलाइन आवेदन के आधार पर स्थानांतरित किया जाना है। लेकिन जॉन वाईज स्कूल बनाने के बावजूद ऑनलाइन आवेदन नहीं लिये जाने के कारण बहुत सारे जरुरत मंद शिक्षक -शिक्षिकाओं का स्थानांतरण नहीं हो पा रहा है।

प्राथमिक शिक्षा निदेशालय से मार्गदर्शन प्राप्त कर स्थानांतरण प्रक्रिया को प्रारम्भ किए जाने की अपेक्षा संघ जिला शिक्षा अधिकधक से करता है। जिला शिक्षा अधीक्षक कार्यालय मे शिक्षकों की सेवा पुस्तिका जमा होने के कारण सेवा सत्यापन आदि कार्यों में कठिनाई उत्पन्न हो रही है।निदेशालय के दिशा निर्देश के अनुरूप सेवा पुस्तिका को निकासी एवं व्ययन पदाधिकारी के पास रखा जाना है। इसलिए सेवा पुस्तिका प्रधानाध्यापक सह निकासी एवं व्ययन पदाधिकारी के पास वापस किया जाना अपेक्षित है।

सेवा निवृत्त शिक्षकों का पावना भुगतान ससमय करने की कृपा की जाय। जिला शिक्षा अधीक्षक के द्वारा जिला स्तर पर पेंशन अदालत लगाना स्वागत योग्य एवं सराहनीय कदम है। जिला शिक्षा अधीक्षक से मिलने वाले प्रतिनिधिमंडल मे जिलाध्यक्ष सुनील कुमार दुबे, जिला महासचिव दिलीप कुमार श्रीवास्तव, राज्य प्रतिनिधि आलोक कुमार के अलावे रविन्द्र कुमार ओझा, शैलेश कुमार तिवारी, चन्द्र देव सिंह, अरविंद कुमार सिंह, दुबराज सिंह ,वंशीधर प्रसाद व गोरखधर दुबे शामिल थे।

खबरें और भी हैं...