पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

गिरफ्तार:हथियार और नशीला पदार्थ बिक्री के बाद पैसे के लेन देन में, विवाद होने पर की थी दोस्त की हत्या

गढ़वा19 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • शहर के सोनपुरवा निवासी विशाल गोंड़ हत्याकांड में पुलिस ने मृतक के दोस्त शहादत को गिरफ्तार किया

13 जुलाई को युवक की गोली मारकर कि गई हत्या के मामले में पुलिस ने 24 घंटे के अंदर गुत्थी को सुलझा लिया है। शहर के सोनपुरवा निवासी विशाल गोंड़ हत्याकांड में पुलिस ने मृतक के दोस्त शहादत को गिरफ्तार किया है। गिरफ्तार साई मोहल्ला निवासी शहादत के निशानदेशी पर पुलिस ने घटना में प्रयोग किया गया पिस्टल सहित एक देशी कट्टा, एक 7.65 एमएम का कारतूस, देशी कट्टा का दो गोली, चार खाली खोखा और दो बीयर का बोत्तल बरामद किया गया है। इस संबंध में एसडीपीओ अवध कुमार यादव ने बुधवार को सदर थाना में पत्रकार वार्ता आयोजित कर कहा कि शहादत और विशाल दोस्त थे। दोनों आर्म्स और ब्राउनशूगर का कारोबार एक साथ मिलकर करते थे।

हथियार और नशीला पदार्थ बिक्री के बाद से उक्त दोनों के बीच पैसे की लेन-देन को लेकर आपस में खटपट चल रही थी। दोनों एक दूसरे को रास्ते से हटाने का प्लान तैयार कर रहे थे। इसी बीच 12 जुलाई को शहादत ने एक प्लान के तहत विशाल को अपने साथ ले गया। वहां पहले दोनों नशीला पदार्थ के कारोबार का 47 हजार नगद उठाया। उसके बाद दोनों एक साथ शराब पीने सदर थाने के भरठिया गांव स्थित हरियाला नाला के पास गए। वहां विशाल और शहादत पहले शराब पीये। उसी दौरान विशाल शराब के नशे में हो गया। उसके बाद शहादत ने उसे गोली मार दी। एसडीपीओ ने कहा कि शहादत ने करीब चार राउंड फायरिंग की उसके बाद पिस्टल वहीं फेककर फरार हो गया। पुलिस शक के आधार पर शहादत को गिरफ्तार किया। उसके बाद शहादत से सख्ती से पूछताछ की गई। शहादत के निशानदेही पर घटना में प्रयुक्त हुए पिस्टल को बरामद किया गया। एसडीपीओ ने कहा कि शहादत ने पुलिस के पूछताछ के दौरान बताया कि विशाल का वह हत्या नहीं करता तो विशाल उसकी का हत्या कर देता। एसडीपीओ ने बताया कि विशाल और शहादत एक गिरोह बनाकर आर्म्स और ब्राउनशूगर का कारोबार करते थे। जल्द ही पुलिस उक्त गिरोह के लोगों को भी गिरफ्तार कर लेगी>

खबरें और भी हैं...