पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

चेक बाउंस मामला:नप अध्यक्ष के पति और पूर्व विधायक प्रतिनिधि संतोष केशरी ठगी केस में गिरफ्तार, समझौता के बाद 2 घंटे में मिली बेल

गढ़वा8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • वर्ष 2018 में सरकारी कार्य में बाधा के मामले में भी जा चुके हैं जेल
  • पैसा वापस करने की शर्त पर कोर्ट से मिली जमानत

गढ़वा नगर परिषद के अध्यक्ष पिंकी केशरी के पति और पूर्व विधायक प्रतिनिधि (नगर परिषद) संतोष केशरी को ठगी के मामले में पुलिस ने गुरुवार को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है। उन पर पूर्व से ही चेक बाउंस होने का प्राथमिकी दर्ज कराया गया था। इधर गिरफ्तारी के तत्काल बाद समझौता के तहत 5 लाख 90 हजार भुगतान करने के बाद संतोष केसरी को न्यायालय से जमानत भी दे दी गई है।

बताया गया कि संतोष केशरी शहर के मेन रोड निवासी नंदू प्रसाद सोनी से पैसा उधार लिया था। नंदू प्रसाद सोनी ने पैसों की मांग की तो संतोष केशरी ने 30 सितंबर 2018 को पांच लाख 90 हजार रुपए का चेक दिया था। मगर जब चेक को बैंक में जमा किया गया तो खाता में पैसा नहीं होने के कारण चेक बाउंस हो गया। इसके बाद नंदू प्रसाद सोनी ने गढ़वा थाने में संतोष केशरी पर प्राथमिकी दर्ज कराया।

थाने में दर्ज कांड संख्या 158/19 में संतोष केशरी पर वारंट जारी किया गया था। इस संबंध में गढ़वा थाना के इंस्पेक्टर राजीव कुमार सिंह ने कहा कि संतोष केशरी पर चेक बाउंस होने का मामला दर्ज है। ठगी/जालसाजी के मामले में वारंट था। त्योहार को लेकर सभी वारंटियों को अभियान चलाकर गिरफ्तार किया जा रहा है।

अतिक्रमण अभियान में दुकानदारों को भड़काने और पथराव कराने का भी संतोष केसरी पर लगा था आरोप
संतोष केशरी पर वर्ष 2018 में सरकारी कार्य में बाधा का भी मामला दर्ज है। इस मामले में वे जेल भी जा चुके हैं। वर्ष 2018 में ज़िला प्रशासन द्वारा शहर में अतिक्रमण हटाओ अभियान चलाया जा रहा था। इसी बीच शहर के सोनपुरवा स्थित अंतरराज्यीय बस स्टैंड में अतिक्रमण हटाने के दौरान वहां के झुग्गी झोपड़ी व अन्य दुकानदारों ने पथराव किया था। इस मामले में संतोष केशरी पर दुकानदारों को भड़काने और पथराव कराने का भी आरोप लगा था।

पथराव में मौके पर उपस्थित तत्कालीन गढ़वा अंचलाधिकारी बैधनाथ कांमती सहित आधा दर्जन पुलिस कर्मी भी चोटिल हुए थे। तत्कालीन सीओ ने सरकारी कार्य में बाधा उत्पन्न करने की प्राथमिकी संतोष केशरी पर दर्ज कराया था। एक अन्य मामले में शहर के केशरी मोहल्ला निवासी मदन प्रसाद गुप्ता ने भी संतोष केशरी व चार अन्य लोगों पर घर में घुसकर पिस्तौल दिखाते हुए धमकी देने और जबरदस्ती स्टाम्प व सादा कागज पर हस्ताक्षर कराने की प्राथमिकी दर्ज कराया था।

संतोष केशरी नहीं उनकी पत्नी हैं भाजपा की सदस्य : ज़िलाध्यक्ष

गढ़वा ज़िला भाजपा के जिलाध्यक्ष ओम प्रकाश केशरी ने कहा कि संतोष केशरी नए प्राथमिक सदस्य नहीं बनाए गए हैं। वे पहले पार्टी के प्राथमिक सदस्य थे या नहीं यह मुझे मामूल नहीं है। उन्होंने कहा कि संतोष केशरी की पत्नी पिंकी केशरी भाजपा की सदस्य हैं। संतोष केशरी नहीं हैं। जिलाध्यक्ष ने कहा कि पूर्व विधायक सत्येन्द्र नाथ तिवारी के नगर परिषद के प्रतिनिधि थे।

खबरें और भी हैं...