निर्माण का विरोध:गढ़वा में टाऊन हॉल की आड़ में कुछ लोग कर रहे हैं नकारात्मक राजनीति

गढ़वा2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

नीलाम्बर-पीताम्बर बहुद्देशीय टाउन हॉल की आड़ में कुछ लोग नकारात्मक राजनीति कर रहे हैं और पलामू-गढ़वा की आम जनता को बर्गला रहें है। उक्त बातें झामुमो के केन्द्रीय सदस्य सह आदिवासी नेता जेपी मिंज, सुनील किस्पोटा और श्रवण कुमार सिंह ने पत्रकार वार्ता में कही। नेताओं ने कहा कि जनता द्वारा ठुकराए गए और सत्ता से बाहर कर दिए गए लोगों द्वारा कुछ लोगों को आगे कर नकारात्मक राजनीति का खेल खेला जा रहा है।

नीलाम्बर-पीताम्बर बहुद्देशीय टाऊन हॉल के शिलान्यास समारोह के दौरान अपने संबोधन में मंत्री मिथिलेश कुमार ठाकुर ने बहुद्देशीय टाऊन हॉल को नीलाम्बर-पीताम्बर बहुद्देशीय टाऊन हॉल कहकर ही संबोधित किया था। उन्होंने नारा लगा रहे कुछ लोगों से कहा भी कि इस टाऊन हॉल के नामकरण पर कोई विवाद नहीं है, इसका नामकरण नीलाम्बर-पीताम्बर टाऊन हॉल ही है और भविष्य में भी रहेगा परन्तु कुछ लोगों को भड़काया जा रहा है और यह प्रचार कराया जा रहा है कि नीलाम्बर-पीताम्बर का नाम हटा दिया गया है। मंत्री ने पलामू के प्रथम सांसद जेठन सिंह खरवार की भव्य प्रतिमा स्थापित कराई है।

इस क्षेत्र के प्रमुख आन्दोलनकारी फेतल सिंह खरवार की प्रतिमा बाहाहारा में स्थापित कराकर उनके गांव की सड़क का निर्माण कराने का कार्य मंत्री ने ही किया है। जिले को विकसित बनाने के लिए लागू की जा रही योजनाओं से कुछ लोगों में निराशा और घबराहट छा गई है। यही मूल कारण है कि टाउन हॉल, घंटाघर सहित हर निर्माण का विरोध कराने का षड़यंत्र रचा जाता है।

जहाँ तक बहुद्देशीय टाऊन हॉल का नामकरण का प्रश्न है, नेताओं ने कहा कि आदिवासी-मूलवासी समाज को बहकावे में नहीं आना चाहिए। झामुमो ही आदिवासियों, मूलवासियों की सच्ची हितैषी है। हेमंत सोरेन की सरकार ने नीलांबर पीतांबर के नाम पर जल समृद्धि योजना संचालित कर रही है। प्रेसवार्ता में कमलेश कुमार, गंगेश्वर सिंह, चैतू सिंह, हरिमाल सिंह, हिरामन सिंह, रामजी सिंह सहित अन्य लोग मौजूद थे।

खबरें और भी हैं...