पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

गढ़वा वासियों का चार साल का इंतजार खत्म:गढ़वा में 26.74 करोड़ रुपए से बने भागोडीह ग्रिड से आपूर्ति शुरू, 80 मेगावाट मिलेगी अतिरिक्त बिजली, 12 प्रखंड के लोगों को राहत

गढ़वा13 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
शिलापट्‌ट का अनावरण करते पेयजल मंत्री मिथिलेश ठाकुर। - Dainik Bhaskar
शिलापट्‌ट का अनावरण करते पेयजल मंत्री मिथिलेश ठाकुर।
  • मुख्यमंत्री ने ऑनलाइन भागोडीह पावर ग्रिड का उद्घाटन व भवनाथपुर व छतरपुर ग्रिड का किया शिलान्यास
  • भागोडीह पावर ग्रिड में पेयजल व स्वच्छता मंत्री ने शिलापट्ट का अनावरण कर कार्यक्रम की शुरुआत की, जिले के लोगों को बराबर होनेवाले फॉल्ट से मिलेगी निजात

मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन द्वारा 132/33 पावर ग्रिड भागोडीह का उद्घाटन एवं 132/25 ग्रिड भवनाथपुर व छतरपुर का शिलान्यास आनलाइन किया गया। इस अवसर पर भागोडीह पावर ग्रिड में आयोजित कार्यक्रम में सर्वप्रथम पेयजल व स्वच्छता मंत्री मिथलेश कुमार ठाकुर ने दीप प्रज्ज्वलित व शिला पट्ट का अनावरण कर कार्यक्रम की शुरुआत की। जिसके बाद मुख्यमंत्री ने रांची से आनलाइन जुड़कर योजनाओं का उद्घाटन व शिलान्यास स्वीच दबाकर किया।

इस परियोजना के निर्माण में करीब 26.74 करोड़ की लागत आई है। इस नव निर्मित ग्रिड को विद्युत आपूर्ति 220/132 केवी ग्रिड सब स्टेशन भागोडीह से उपलब्ध कराई जाएगी। विभागीय अधिकारियों के अनुसार इस ग्रिड के ऊर्जान्वयन के बाद करीब 80 मेगावाट अतिरिक्त विद्युत की आपूर्ति की जा सकेगी। जिससे गढ़वा जिले के मकरी, पंडरिया, बुका, गरदा, सरईया, अरसली क्षेत्र के लोगों को प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष रूप से लाभवान्ति होंगे। इसके अलावा लो वोल्टेज की समस्या से निजात मिलेगा।

वहीं जिले के पांच फीडरों से गढ़वा, मेराल, डंडई, चिनियां, रंका, धुरकी, नगरऊंटारी, कांडी, मझिआंव, केतार, सगमा, विशुनपुरा सहित अन्य प्रखंड के लोगों को लाभ मिलेगा। ज्ञात हो कि पिछले वर्ष 220/132 केवीए ग्रिड सब स्टेशन भागोडीह का लोकार्पण किया गया था। लेकिन वहां से गढ़वा को बिजली की आपूर्ति रेहला बी मोड़ के माध्यम से होती थी, जो एक लंबी लाइन है। इस कारण बराबर ट्रिपिंग की समस्या होती रहती थी। इस ग्रिड को ऊर्जान्वित होने के बाद जिले को इस समस्या से निजात मिल जाएगी। उधर मंत्री मिथिलेश ठाकुर ने 132/33 केवी ग्रिड सब स्टेशन मेराल (भागोडीह) के उद्घाटन और भवनाथपुर और छतरपुर ग्रिड सब स्टेशन का शिलान्यास कार्यक्रम में दावा किया कि अब जिलेवासियों को 20 से 22 घंटा बिजली मिल रही हैं। मंत्री ने कहा कि किसी भी क्षेत्र में विकास का सबसे प्रमुख पैमाना बिजली होता हैं। पलामू प्रमंडल विकास के मामलें में अग्रणी प्रमंडल के रूप में विकसित होगा। उन्होंने कहा कि जल्द ही सुंडीपुर पुल का उद्घाटन होगा।

खबरें और भी हैं...