पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

तैयारी शुरू:हिंदी, मगही, भोजपुरी भाषा को हटाने के विरोध में भाजपा का विस घेराव कल, जिले से 5 हजार कार्यकर्ता जाएंगे

गढ़वा22 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

गढ़वा जिला भाजपा के जिलाध्यक्ष ओम प्रकाश केशरी ने कहा कि हिंदी, मगही, भोजपुरी व अंगिका भाषा को खत्म करने और विधानसभा परिसर में नमाज कक्ष बनाए जाने के विरोध सहित अन्य समस्या को लेकर 8 सितंबर को विधानसभा घेराव कार्यक्रम होगा। इसमें गढ़वा जिला से पांच हजार कार्यकर्ता रांची जाएंगे। वे सोमवार को पत्रकार वार्ता में बोल रहे थे। उन्होंने कहा कि विधानसभा घेराव कार्यक्रम में जाने के लिए सभी मंडल में तैयारी शुरू हो चुकी है।

कार्यक्रम में भाजपा के सभी मंडल अध्यक्ष, मंच मोर्चा के अध्यक्ष तैयारी शुरू कर चुके हैं। कार्यक्रम में भाजपा कार्यकर्ता के अलावा सभी मंडल से मंच मोर्चा से कार्यकर्ता भारी संख्या के साथ आंदोलन में भाग लेने के लिए रांची पहुंचेंगे। विधानसभा घेराव कार्यक्रम को लेकर सभी मंडल प्रभारी अपने-अपने मंडल में बैठक कर कार्यक्रम की योजना बनाएंगे। पलामू के पूर्व लोकसभा प्रत्याशी जवाहर पासवान ने कहा कि झामुमो सरकार निरंकुश हो चुकी है। इस सरकार में भेदभाव की नीति चल रही है। विकास कार्य ठप हो चुका है।

चारों तरफ हाहाका मचा हुआ है। यह सरकार झारखंड में रहने वाले लोगों को बांट रही है। हिन्दी, मगही, भोजपुरी व अंगिका भाषा को खत्म करने की साज़िश रचकर हेमंत सरकार ने युवाओं का भविष्य अंधकारमय बना दिया है। वहीं दूसरे राज्यों में पढ़ाई करने वाले लोगों को नौकरी नहीं देने वाली नियमावली बनाई गई है। इससे पलामू गढ़वा के युवा व छात्र अपने ही राज्य में नौकरी नहीं कर पाएंगे।

विधानसभा परिसर में नमाज कक्ष बनाकर दूसरे धर्म का अपमान किया गया है। झामुमो सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि अगर हेमंत सरकार को हिन्दू समाज से थोड़ा भी प्रेम है। तो विधानसभा परिसर में हनुमान मंदिर बनाए। पत्रकार वार्ता में महामंत्री संतोष दुबे, विकास स्वदेशी मीडिया प्रभारी विवेकानंद तिवारी, जिला कार्यसमिति सदस्य राजकुमार मधेशिया, भाजयुमो जिलाध्यक्ष रितेश चौबे, केदारनाथ प्रजापति देवब्रत सिंह मनोज तिवारी आदि मौजूद थे।

खबरें और भी हैं...