धर्म-कर्म / सोशल डिस्टेंस के साथ वट सावित्री पूजा में मांगी गई मन्नतें

Votes sought in Vat Savitri Puja with social distance
X
Votes sought in Vat Savitri Puja with social distance

  • गढ़वा जिले में धूमधाम से की गई वट सावित्री की पूजा, सुहागिन महिलाओं ने पति की लंबी आयु की कामना की, बरगद में रक्षा सूत बांधा

दैनिक भास्कर

May 23, 2020, 05:00 AM IST

बंशीधर नगर. वट सावित्री का पूजा शुक्रवार को श्रद्धा के साथ मनाया गया। शहर से लेकर ग्रामीण इलाकों तक सुहागिन महिलाओं ने बरगद के पेड़ पर धागा बांधकर विधिवत पूजा अर्चना की । हालांकि इस बार लाॅकडाउन के कारण बरगद के पेड़ पर पूजा करने वाले महिलाओं की संख्या सामान्य रही। अधिकतर महिलाओं ने अपने घर में ही बरगद की डाली की पूजा कर पर्व मनाया। सुबह से ही पूजा का सिलसिला दोपहर तक चलता रहा। सुहागिनों ने पेड़ में धागा बांधकर अपने पति की दीर्घायु के साथ ही परिवार की सुख समृद्धि की कामना की। शहर में मंदिरों समेत तमाम इलाकों में बरगद के पेड़ की पूजा अर्चना हुई। सुबह होते ही महिलाएं अपने साथ पूजन सामग्री लेकर जिन स्थानों पर बरगद का पेड़ था। वहां पहुंच गई। यहां महिलाओं ने  बरगद के चारों और धागा बांधा और मन्नतें मांगी। महिलाओं ने पति और बच्चों की दीर्घायु की कामना की। इस दौरान सुहागिनों ने खरबूजा, आम, सुराही व शृंगार से जुड़े सामान चढ़ाएं।
साेलह श्रृंगार कर महिलाएं पहुंची मंदिर दुल्हन की तरह : सोलह श्रृंगार मंदिर पहुंची महिलाओं ने विधि विधान के साथ इस व्रत को पूरा किया। पूजा के बाद सुहागिनों ने सत्यवान और सावित्री की कथा विषय में वंशीधर अनुमंडल के अहिरपुरवा स्थित काली मंदिर और जल क्रांति भवन के समीप वटवृक्ष के नीचे सुबह से सुहागिनों के भीड़ लगी रही। पूजा के बाद सुहागिनों ने वटवृक्ष के 7, 11 और 21 परिक्रमा कर वट सावित्री की पूजा संपन्न की।
वट सावित्री पूजा को लेकर मंदिरों में भीड़ नहीं रखा गया शारीरिक दूरी का पालन : बरगद के पेड़ों के नीचे परिक्रमा किया और पंडित जी द्वारा कहे जाने वाले कथा विषय के साथ-साथ ग्रामीण क्षेत्रों में बरगद के पेड़ों के बीच सुहागिन महिलाओं ने पूजा इस दौरान उन्हें लोकतांत्रिक दूरी के नियम का भी ख्याल नहीं रखी।महिलाओं को किसी का डर नहीं दिखा। सिर्फ पति के प्रेम में भगवान याद आए। वहीं दूसरी ओर जिन सुहागिन महिलाओं को कोरोना का डर था वह अपने अपने घरों में ही वटवृक्ष की डाली के साथ पूजा अर्चना कर पति की लंबी उम्र के साथ सुख शांति और समृद्धि की मंगल कामना की।
सुहागिनों ने वट सावित्री की पूजा-अर्चना कर अपने पति को दीर्घायु होने की कामना की
सगमा | प्रखंड मुख्यालय के विभिन्न गांव में सुहागिन महिलाओं ने शुक्रवार को वट सावित्री की पूजा-अर्चना कर अपने पति के दीर्घायु वायु की कामना की महिलाओं ने शुबह से ही अपने पास पड़ोस के वट वृक्ष के पास जाकर वट सावित्री की पुजा की पूजा को लेकर महिलाओं ने गुरुवार को ही पूजा से संबंधित सामग्री का खरीदारी कर ली थी। 
पूजा को लेकर कई जगहों पर पूजन सामग्री की बिक्री को लेकर दुकानें लगाई गई थीं, हालांकि लॉकडाउन के कारण कुछ महिलाएं घरों में ही रहकर पूजा-अर्चना की। 
जब की कुछ महिलाएं का निकटतम वट वृक्ष होने के कारण वट वृक्ष के पास पूजा की महिलाओं ने लॉकडाउन होने के बावजूद भी पूजा संबंधित सभी प्रकार की व्यवस्था कर ली। कई महिलाओं ने कहा कि वट की टहनी को घर पर ही लाकर पूजा-अर्चना किया। महिलाओं ने बताया कि लॉकडाउन का अनुपालन करना आवश्यक है। इसलिए हमलोग अपने घर में ही रहकर पूजा-अर्चना कर अपने अपने पति की लंबी उम्र की कामना भगवान से किया जब की कुछ महिलाओं ने बताया कि पास में स्थित वट वृक्ष की परिक्रमा करने के बाद वह घर में आकर शेष पूजा सम्पन्न किया। 
इसके लिए उन्होंने शारीरिक दूरी व नियमों का अनुपालन करते हुए वट वृक्ष का परिक्रमा की हालांकि लॉकडाउन के कारण लोगों में मायूसी ही मायूसी दिखाई दी।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना