कृषि सम्मान निधि:525 आयकरदाता किसानों ने भी कृषि सम्मान योजना का 38.36 लाख लिया, अब वसूली

गुमला8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • मामले का खुलासा किसानों के आधार नंबर के जरिए हुआ, बैंक खाता था लिंक्ड

छोटे एवं खेती पर निर्भर आर्थिक रूप से कमजोर किसानों को खाद बीज की खरीद के लिए पीएमकेएसवाई के तहत दी जानेवाली सहायता का लाभ जिले के 525 वैसे किसानों ने भी उठा लिया जो आयकर दाता भी हैं। अब उनकी पहचान होने के पश्चात जिला प्रशासन उन अयोग्य एवं आयकर दाता किसानों को नोटिस भेजकर पीएम किसान सम्मान निधि की राशि की वसूली शुरू कर दी है। उल्लेखनीय है कि प्रधानमंत्री कृषि सम्मान योजना के तहत एक किसान को 1 वर्ष में तीन क़िस्त में कुल ₹6000 की सहायता राशि उसके बैंक खाते में भेजी जाती है।

भारत सरकार ने जिला प्रशासन को इस संबंध में एक सूची उपलब्ध कराई है जिन्होंने आयकर दाता होने के बाद भी प्रधानमंत्री कृषि सम्मान निधि का लाभ लिया है। जिला प्रशासन ने राशि की वापसी का कार्य प्रारंभ कर दिया है जिसमें करीब डेढ़ लाख रुपए की वसूली भी की गई है।

आयकर दाता किसानों को भी पीएमकेएसवाई का लाभ दिया गया इसकी पुष्टि आधार नंबर के कारण हुई जिसमें सभी किसानों का आधार नंबर बैंक खाता से लिंक किया गया था। 525 किसानों की पहचान की गई, जिन्होंने पीएमकेएसवाई का 1918 किस्त 38.36 लाख रुपये प्राप्त किया। उनकी पहचान उनके आधार नंबर से हुई है।

राशि रिकवरी के लिए अंचलों को भेजी गई है सूची

अपर समाहर्ता सुधीर कुमार गुप्ता ने बताया कि भारत सरकार से प्राप्त सूची को अंचल वार राशि वसूली के लिए संबंधित अंचलाधिकारी को भेज दी गई है। गुमला अंचल में ही जिले में सबसे अधिक 125 आयकर दाता किसान हैं, जिनमें 115 किसान कम से कम एक क़िस्त 2000 प्राप्त किया है।

खबरें और भी हैं...