कोरोना का कहर / गुमला में काेराेना के 7 नए मरीज मिले... चार दिन पहले मुंबई और पुणे से लौटे थे

7 new patients from Kareena found in Gumla ... returned from Mumbai and Pune four days ago
X
7 new patients from Kareena found in Gumla ... returned from Mumbai and Pune four days ago

  • गुमला जिला में संक्रमितीतों की संख्या बढ़ती जा रही है अब तक 10 पॉजिटीव पाए गए हैं, मरीजों में सभी प्रवासी मजदूर है, शनिवार का मिले 7 मरीजों में 5 सिसई और 2 संक्रमित बसिया के रहने वाले है, सभी को क्वारेंटाइन सेंटर में रखा गया था
  • मुंबई-पुणे से लौटने के बाद प्रवासी मजदूर अपने घर नहीं गए थे इसलिए उनका संपर्क िकसी से नहीं हुआ था

दैनिक भास्कर

May 24, 2020, 05:00 AM IST

गुमला. लॉकडाउन के कारण गुमला जिले के प्रवासी मजदूरों के घर वापसी की संख्या जैसे-जैसे बढ़ रही है। वैसे वैसे जिले में कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या में भी बढ़ोतरी हो रही है। शुक्रवार की रात जारी कोरोना संक्रमित लोगों की रिपोर्ट में गुमला जिले के सात लोगों में कोरोना पॉजिटिव पाया गया है। इस प्रकार गुमला जिले में कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या बढ़कर अब 10 हो गई है। कोरोना संक्रमित जो 7 लोगों की पहचान हुई है वह सभी प्रवासी मजदूर हैं और 4 दिन पूर्व मुंबई और पुणे से वापस गुमला लौटे हैं। उन 7 लोगों में पांच सिसई प्रखंड के तथा 2 लोग बसिया प्रखंड के निवासी हैं। वहीं राहत देने वाली सूचना यह भी है कि सभी प्रवासी मजदूर का कांटेक्ट अपने परिवारजनों से नहीं हुआ है। सिसई प्रखंड वाले पांचों प्रवासी मजदूरों को वापसी के पश्चात प्रखंड के क्वारेंटाइन सेंटर में रखा गया था। वहीं से उनके स्वाब सैंपल जांच के लिए भेजी गई थी। उसी प्रकार बसिया प्रखंड के प्रवासी मजदूरों को भी घर नहीं भेजा गया था। संक्रमित मरीजों को सदर अस्पताल स्थित आइसोलेशन वार्ड में भर्ती कराया गया है। इधर, उपायुक्त शशि रंजन ने बताया कि संक्रमित प्रवासी मजदूर जिनमें को रोना जांच में पॉजिटिव पाया गया है। प्रशासन उन मरीजों के कांटेक्ट हिस्ट्री पता लगाने का प्रयास कर रहा है। इसके लिए सदर अनुमंडल पदाधिकारी जितेंद्र कुमार देव और सदर अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी प्राण रंजन को सभी मरीजों के कांटेक्ट हिस्ट्री के बारे में आवश्यक पूछताछ करने का निर्देश दिया गया है।
बिल एंड मिलिंडा गेट्स फाउंडेशन ने सेविकाओं को दिया मास्क-ग्लब्स
स्वयं सेवी संस्था बिल एंड मिलिंडा गेट्स फाउंडेशन की ओर से गुमला जिले के विभिन्न गांव में आंगनबाड़ी केंद्र संचालित करने वाली सेविका और सहायिकाओं को कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए मास्क और ग्लब्स उपलब्ध कराया गया है। संस्था के प्रतिनिधि ने गुमला जिला प्रशासन को प्रत्येक आंगनबाड़ी केंद्रों के लिए 6 मास्क और 3 सेट ग्लब्स मुहैया कराया गया है। उप विकास आयुक्त हरि कुमार केसरी ने बताया कि उक्त संस्था की ओर से कुल 600 यूनिट मास्क और ग्लव्स का सहयोग किया गया है।  उल्लेखनीय है कि कोविड-19 के मद्देनजर जिले में राहत सामग्रियों का वितरण अथवा अन्य प्रकार के सहयोग की मॉनिटरिंग के लिए विभिन्न स्वयंसेवी संस्थाओं की मदद ली जा रही है। सभी संस्थाओं के बीच समन्वय स्थापित करने के लिए जिले के मदर आर्गेनाइजेशन के रूप में चिन्हित स्वयंसेवी संस्था प्रदान को जिम्मेवारी दी गई है।
प्रशासन की अपील- जिले में आने वाले मजदूरों की सूचना दें गांव के लोग
उपायुक्त ने बताया कि सिसई प्रखंड के कोरोना पॉजिटिव मरीज गत 18-19 मई की रात को मुंबई और पुणे से ट्रक के माध्यम से सिसई पहुंचे थे। सिसई उतारने के पश्चात उन्हें घर जाने के बजाय वहां के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में भेजा गया था। वहीं से उनका सैंपल एकत्र कर जांच के लिए भेजा गया। उनके साथ ट्रक में खूंटी और उड़ीसा के राउरकेला के भी मजदूर सवार थे। कांटेक्ट हिस्ट्री पता लगाया जा रहा है।
2002 संदिग्धों के सैंपल में 1171 लाेगों की रिपोर्ट निगेटिव आई और 10 की पॉजिटिव मिली
गुमला में 22 मई तक कुल 2002 कोरोना संदिग्धों का सैंपल जांच के लिए इटकी लैब में भेजा गया। उनमें अब तक 1171 का रिपोर्ट नेगेटिव तथा 10 पॉजिटिव पाया गया है। अब भी 831 सैंपल का रिपोर्ट आना बाकी है। उपायुक्त ने सिविल सर्जन को लंबित रिपोर्ट के बारे में भी जानकारी देने को कहा है।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना