दुर्घटना:बाइक दुर्घटना में मृत पूर्व नक्सली और उसकी प्रेमिका का शव परिजनों को सौंपा

गुमला2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

जिला मुख्यालय से सटे 5 किलोमीटर दूर करौदी ढलान के समीप मंगलवार को देर रात बाइक दुर्घटना में मृत पीएलएफआई के पूर्व सबजोनल कमांडर व उसकी प्रेमिका किरण कुमारी का शव बुधवार को पोस्टमार्टम के बाद परिजनों को सौंप दिया गया।

पुलिस रिकॉर्ड के अनुसार गुलाब गोप उर्फ गुलाब खत्री के विरुद्ध जिले के विभिन्न थाना में करीब 38 से अधिक मामले दर्ज थे। इनमें सबसे चर्चित मामला वर्ष 2000 में सदर थाना क्षेत्र के टैसेरा गांव में घटित सामूहिक नरसंहार था। इस नरसंहार में गुलाब के अलावा भूषण यादव का भी दस्ता शामिल था। सभी बराती की शक्ल में मौके पर पहुंचे थे और घटना को अंजाम दिया था। इसके बाद गुलाब का कद पीएलएफआई में बढ़ गया था।

फिर वह लगातार ताबड़तोड़ घटनाओं को अंजाम देकर पुलिस के लिए सरदर्द बन गया था। 12 मई 2014 को गुलाब पहली बार पुलिस के हत्थे चढ़ा था। तब उसे छत्तीसगढ़ राज्य के जशपुर थाना की पुलिस ने एक व्यापारी से लेवी लेने के क्रम में धर दबोचा था। जेल से निकलने के बाद फिर से वह आपराधिक घटनाओं को अंजाम देने लगा। गुलाब गोप मुख्य रूप से कुछ समय पहले कुलबीर गांव में राम खड़िया की हत्या, कुलबीर में ही दो अन्य ग्रामीणों की हत्या, जमगई में पीबो पंचायत की मुखिया साफिया देवी की हत्या, कोयनारा में डगर नायक की हत्या में शामिल था।

खबरें और भी हैं...