पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

निधन:सिसई के पूर्व विधायक बंदी उरांव का निधन, अंतिम संस्कार दतिया में आज

गुमला14 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • पेसा कानून के समर्थक, उसपी की नौकरी छोड़ कर आए थे राजनीति में

कांग्रेस के वरिष्ठतम नेता व सिसई के पूर्व विधायक बंदी उरांव का निधन हो गया। रांची के हेहल बगीचा स्थित आवास में उन्होंने सोमवार को देर रात अंतिम सांस ली। उनकी उम्र करीब 90 वर्ष थे। बंदी उरांव झारखंड के एक ऐसी शख्सियत थे जिन्होंने अपनी पूरी जिंदगी अपने विचारों, सिद्धांतों और झारखंडी जनमानस के हित में लगा दी थी। 1980 में गिरिडीह जिले के एसपी के पद पर रहते हुए बंदी उरांव ने नौकरी से त्यागपत्र देकर कार्तिक उरांव की प्रेरणा से राजनीतिक जीवन की शुरुआत की थी। पेसा कानून को लेकर उन्होंने लंबा संघर्ष किया था। उनका पसंदीदा खेल फुटबॉल था।

उनके पुत्र अरुण उरांव भी पुलिस अधिकारी रह चुके हैं और वर्तमान में भाजपा से जुड़े हुए हैं। वहीं उनकी पुत्रवधू गीताश्री उरांव भी कांग्रेस के टिकट पर सिसई से विधायक रह चुकी हैं। साथ ही झारखंड सरकार के कैबिनेट में शिक्षा मंत्री का दायित्व संभाल चुकी है। पारिवारिक सूत्रों के अनुसार बंदी उरांव का अंतिम संस्कार बुधवार को पैतृक गांव दतिया में सम्पन्न होगा। बंदी उरांव का जन्म 16 जनवरी 1931 को गुमला जिले के दतिया गांव में हुआ था। उन्होंने 1947 में रांची जिला स्कूल से मैट्रिक की परीक्षा प्रथम श्रेणी से उत्तीर्ण की। राजनीति के क्षेत्र में कार्तिक उरांव उनके आदर्श रहे है। उनके लिए जीवन में सबसे बड़ी खुशी का क्षण तब रहा था, जब लोकसभा में पंचायत विस्तार अधिनियम 1996 पास हुआ था। भूरिया कमिटी द्वारा पंचायत राज्य विस्तार अधिनियम तैयार किये जाने के बाद इस कानून को बनाने में स्व. बीडी शर्मा के साथ बंदी उरांव ने भी मिलकर काम किया था। आदिवासी परंपरा और स्वशासन को कलमबद्ध करने का काम किया। जब कानून पास हो गया तो इसे लेकर गांव-गांव में पत्थरगड़ी की गई, ताकि आने वाली पीढ़ी ग्रामसभा की शक्तियों को देख सके। हाल के दिनों में राज्य में हुए पत्थलगड़ी का उन्होंने समर्थन किया था।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आपकी मेहनत और परिश्रम से कोई महत्वपूर्ण कार्य संपन्न होने वाला है। कोई शुभ समाचार मिलने से घर-परिवार में खुशी का माहौल रहेगा। धार्मिक कार्यों के प्रति भी रुझान बढ़ेगा। नेगेटिव- परंतु सफलता पा...

    और पढ़ें