पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

पुस्तक वितरण कार्यक्रम:नौकरी दिलाने के नाम पर कोई पैसे मांगे तो नहीं दें युवा, सजग रहकर बिचौलिए से बचें : शिवदयाल

लोहरदगा15 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी के लिए 600 युवक-युवतियों को दी गई सामान्य ज्ञान की पुस्तक

लोहरदगा-सेन्हा प्रखंड क्षेत्र अंतर्गत सिठियो गांव के करम मैदान में आदिवासी सहयोग समिति लोहरदगा भारत के बैनर तले पुस्तक वितरण कार्यक्रम का आयोजन किया गया। आदिवासी सहयोग समिति की ओर से जिले के शिक्षित युवक-युवतियों को देश की सेवा में योगदान देने व रोजगार से जोड़ने की दृष्टिकोण से आउटडोर व इनडोर माध्यम से प्रशिक्षण दिया जा रहा है। युवक-युवतियों को फिजिकल के साथ कंपिटिशन के लिए तैयार कराई जा रही है।

वर्तमान में आदिवासी सहयोग समिति में 951 युवक-युवतियों ने प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी के लिए रजिस्ट्रेशन कराया है। रजिस्ट्रेशन की प्रक्रिया चल रही है। कार्यक्रम आयोजित कर 600 युवक-युवतियों को विभिन्न प्रतियोगी परीक्षा में तैयारी करने के लिए सामान्य ज्ञान का पुस्तक वितरण किया गया। सामान्य ज्ञान पुस्तक के माध्यम से युवक-युवती विभिन्न प्रतियोगी परीक्षा के लिए तैयारी कर सकेंगे। उन्हें सामान्य ज्ञान की प्रतियोगी पुस्तक से कई प्रकार की लाभ प्राप्त होगा।

मौके पर आदिवासी सहयोग समिति लोहरदगा भारत के संस्थापक सह अध्यक्ष (सीआरपीएफ) शिवदयाल उरांव ने युवक-युवतियों को देश सेवा के लिए जगी उनके जज्बे को सलाम किया। कहा कि सहयोग समिति ऐसे युवक-युवतियों को प्रशिक्षण देगा जो तन और मन से देश सेवा करना चाहते है। आज के दौर मेंनौकरी के नाम पर कई बिचौलिए पनपे हुए हैं। सही मार्गदर्शन के साथ सही निर्णय लेने से आप बिचौलिए के चंगुल से बच सकते हैं।

कोई भी व्यक्ति नौकरी के नाम पर पैसे की मांग करें तो इसकी सूचना आदिवासी सहयोग समिति को दें, इस पर समिति अग्रेतर होकर ऐसे लोगों पर अंकुश लगाने का काम करेगा। उन्होंने कहा कि सहयोग समिति एक बड़ा प्लेटफाॅर्म है जो समाज के उत्थान में अग्रिम भूमिका निभा रहा है।

सही मार्गदर्शन नहीं मिलने से भटकते हैं युवा : जोगिया
आदिवासी सहयोग समिति के शिक्षा प्रभार (सीआरपीएफ) जोगिया उरांव ने कहा कि शिक्षा ही एक ऐसा माध्यम से जिससे आप हर प्रकार के मुकाम हासिल कर सकते है। आज के दौर में युवक-युवतियां सही मार्गदर्शन नहीं मिलने से रास्ते भटक जाते है, इसलिए आदिवासी सहयोग समिति उन्हें सही रास्त दिखाने का कार्य कर रहा है।

समिति से जुड़े युवक-युवतियों को निश्चित रूप से उनके मुकाम तक पहुंचाने का कार्य किया जाएगा। इसके अलावे सहयोग समिति के कई पदाधिकारी व सदस्यों ने भी युवक-युवतियों को संबोधित किया। मौके पर मुख्य रूप से समिति के उपाध्यक्ष सीआरपीएफ राकेश भगत, लालदेव उरांव, लासु उरांव, विकास उरांव, संजू उरांव, मनोज, सुरेश, दिनेश खेस्स, शिक्षक में नेहा, जगजीवन, चन्द्र किशोर भगत, सुधांशु, शारीरिक शिक्षिका प्रकाशित मिंज सहित काफी संख्या में युवक-युवतियां उपस्थित थीं।

खबरें और भी हैं...