जिला समिति की बैठक:आंदोलनकारियों की समस्याओं पर 15 तक वार्ता नहीं हुई,तो होगा आंदोलन : अश्विनी

लोहरदगा2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

झारखंड आंदोलनकारी संघर्ष मोर्चा जिला समिति की बैठक शनिवार को जिला अध्यक्ष अश्विनी कुजूर की अध्यक्षता में हुई। मौके पर जिलाध्यक्ष अश्विनी कुजूर ने कहा कि झारखंड आंदोलनकारियों की समस्याओं का समाधान नहीं हो पाया है।

चिन्हीकरण आयोग का पुनर्गठन तो किया गया है, लेकिन अन्य सदस्यों की नियुक्ति नहीं होने के कारण आंदोलनकारियों का चिन्हीकरण कार्य अधर पर लटका है। उन्होंने कहा कि कई चिन्हित आंदोलनकारियों के पेंशन बकाए राशि भी नहीं मिल पाई है। उन्होंने कहा कि जिन आंदोलनकारियों की मृत्यु हो गई, उनके आश्रितों का चिन्हीकरण का कार्य भी नहीं हो पाया है।

उन्होंने राज्य सरकार से मांग करते हुए कहा कि गृह मंत्रालय अथवा सचिवालय में आश्रितों की पहचान के लिए अलग सेल का गठन किया जाए। कुजूर ने कहा कि यदि झारखंड सरकार खासकर मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन द्वारा 15 अगस्त तक आंदोलनकारी संघर्ष मोर्चा के 11 सूत्री मांगों पर वार्ता कर आंदोलनकारियों की मांगों व समस्याओं का निपटारा नहीं करते हैं, तो एक बार फिर जोरदार आंदोलन होगा।

जिसकी शुरुआत आगामी 4 सितंबर को लोहरदगा समाहरणालय के समक्ष मशाल जलाकर आंदोलन का बिगुल फूंका जाएगा। बैठक को संयोजक प्रो विनोद भगत ने कहा कि सरकार के संकल्प में आंदोलनकारियों के लिए जेल जाने की बाध्यता समाप्त कर सभी आंदोलनकारियों पेंशन व सम्मान बराबर का होना चाहिए।

खबरें और भी हैं...