मिली सफलता:थाना भवन उड़ाने समेत मुठभेड़ में शामिल रहे नक्सली अमन गिरफ्तार, विस्फोटक बरामद

गुमला5 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
मीडिया को नक्सली की गिरफ्तारी की जानकारी देते डीएसपी अभियान व अन्य। - Dainik Bhaskar
मीडिया को नक्सली की गिरफ्तारी की जानकारी देते डीएसपी अभियान व अन्य।
  • पालकोट के कोटरा कोना गांव में घर आया था, स्पेशल टीम बनाकर पुलिस ने घेरकर गिरफ्तार किया
  • बिहार से पहुंचा नक्सली भिखारी जी गुमला में संगठन का विस्तार करने की रणनीति में जुटा है

पिछले साल 25 नवंबर को कुरुमगड़ थाना के नए भवन को उड़ाने समेत पुलिस के साथ दर्जनों मुठभेड़ में शामिल नक्सली अमन नगेसिया उर्फ मनोज नगेसिया को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। उसके पास से एक देसी पिस्टल, गोली, पिट्ठू, तीन किलो विस्फोटक, दस पीस नन इलेक्ट्रॉनिक डेटोनेटर बरामद किया है। डीएसपी अभियान मनीष कुमार ने बताया कि नक्सली अमन ने पुलिस के समछ कई राज उगले हैं।

लोहरदगा, गुमला समेत कई जगहों पर पुलिस के साथ मुठभेड़ में वह शामिल रहा है। हाल के दिनों में कुरुमगड़ थाना भवन उड़ाने की घटना में भी उसने अपनी संलिप्ता स्वीकार की है। घटना में शामिल नक्सलियों व मददगारों के नाम भी बताए हैं।

उन्होंने बताया कि गुरुवार को एसपी को सूचना मिली थी कि नक्सली संगठन का सक्रिय सदस्य अमन नगेसिया अपने घर पालकोट थाना क्षेत्र के कोटरा कोना गांव आया है। इसके बाद पुलिस की स्पेशल टीम ने कोटरा कोना गांव में अमन नगेसिया के घर को घेर लिया। इसके बावजूद उस घर से एक व्यक्ति मौका पाकर भागने लगा। जवानों ने उसे खदेड़ कर पकड़ा। पूछने पर नाम अमन नगेसिया बताया।

पिछले साल 31 मई को मुठभेड़ में मारे गए नक्सली की बताई पहचान
नक्सली अमन ने 31 मई 2021 को पुलिस के साथ हुए मुठभेड़ में मारे गए नक्सली की पहचान बताई है। उसने बताया कि उस मुठभेड़ में वह भी शामिल था। मगर मुठभेड़ के दौरान अन्य साथियों के साथ सुरक्षित भाग निकला था। मुठभेड़ में मारा गया नक्सली अंकित मुंडा था। वह सिंहभूम जिले का रहने वाला था। इसके अलावा मुठभेड़ के दौरान कई अन्य साथियों को भी गोली लगी थी। मगर बाद में सभी का इलाज कराया गया था।

नक्सली के घर से 2.78 किलो विस्फोटक व अन्य सामान बरामद
अमन की निशानदेही पर उसके घर से छुपा कर रखा गया एक पिट्ठू बैग, बैग के अंदर रखे स्टार जेल ब्रांड का 2 किलो 78 ग्राम विस्फोटक, दस पीस नन इलेक्ट्रॉनिक डेटोनेटर बरामद किया गया। उसने बताया कि संगठन से जुड़ने के एक साल बाद 23 फरवरी 2016 को पालकोट के कोन्डेकेरा जंगल में पुलिस और नक्सलियों के बीच मुठभेड़ हुई थी। इसमें उसे पीठ पर गोली लगीं थी। गोली लगने से वह गंभीर रूप से घायल था। बाद में ठीक हुआ था।

मंगल का चचेरा भाई है नक्सली अमन, 2015 से संगठन से जुड़ा
अमन नगेसिया वर्ष 2015 से नक्सली संगठन से जुड़ा हुआ है। वह पूर्व नक्सली व जनहित क्रांति संगठन का सुप्रीमो मंगल नगेसिया (अब मृत) का चचेरा भाई है। उसने पुलिस को बताया है कि फिलहाल संगठन में 65 से 70 नक्सली है। सभी छोटे-बड़े हथियारों से लैस है। कुरुमगड़ थाना भवन उड़ाए जाने से पूर्व बिहार से भिखारी जी नाम का एक बड़ा नक्सली इलाके में अपने दस्ते के साथ आया हुआ है। वह लोकल दस्ते के साथ मिलकर संगठन का विस्तार के साथ विध्वंसक घटनाओं को अंजाम देने की रणनीति में जुटा हुआ है। उसी के प्लान पर थाना भवन को उड़ाया गया था। थाना भवन को उड़ाने के बाद सभी नक्सली लोहरदगा जिला के पूतरार जंगल चले गए थे। इसके बाद कुजाम माइंस में आगजनी की घटना को अंजाम दिया। घटना को अंजाम देने के लिए भिखारी जी के निर्देश पर 17 सदस्यों का एक स्पेशल टीम बनाई गई थी। इस टीम को छोटू खेरवार उर्फ सुमित खेरवार व बड़ा अमन लीड कर रहा था। नक्सली अपनी बैठकों में जिले के दो पुलिस जवानों को भी टारगेट कर चर्चा करते है। दोनों जवानों में रंजीत व तिवारी शामिल हैं।

खबरें और भी हैं...