ज्ञापन:आदिवासियों के धार्मिक स्थल सिरा सीता को विकसित करें

गुमलाएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
  • जागृत समाज गुमला ने विधायक गुमला को दिया ज्ञापन

जागृत समाज गुमला के सदस्यों ने गुमला विधायक भूषण तिर्की से मिलकर आदिवासियों का प्रमुख धार्मिक और सांस्कृतिक स्थल सिरा सीता को तीर्थ स्थल के रूप में विख्यात करने को लेकर ज्ञापन सौंपा। ज्ञापन देते हुए देवेन्द्र लाल उरांव ने कहा कि जनजाति समाज के प्रमुख धार्मिक स्थल में एक है। सिरा सीता धार्मिक स्थल में ओडिसा, बंगाल, बिहार, असम, छत्तीसगढ़ और झारखंड के हजारों तीर्थयात्री सिरा सीता धाम में दर्शन करने पूजा करने श्रद्धा और विश्वास के साथ आते हैं। सिरा सीता स्थल से ही मानव जाति की उत्पत्ति हुई है ऐसा पूर्वजों का मानना है।

उसके बाद भी सिरा सीता स्थल अभी तक उपेक्षित है। अपनी धरोहर को संरक्षित रखने के लिए जागृत समाज द्वारा प्रयास जारी है। उसी क्रम में स्थानीय विधायक को ज्ञापन सौंपकर मांग की गई है कि गुमला से जशपुर की ओर जाने वाली सड़क का नाम जसपुर सिरा सीता मार्ग करने शहर के आसपास चौक चौराहों पर आदिवासियों के आस्था केंद्रों के नाम पर चौक चौराहों का नाम हो, सिरा सीता स्थल को राज्य के ऐतिहासिक धरोहर के रूप में घोषित किया जाए। गुमला विधायक भूषण तिर्की ने आश्वासन दिया कि कहा कि इस प्रमुख स्थल के संरक्षण के लिए वे सकारात्मक प्रयास करेंगे। ज्ञापन देने वालों में रोहित कुमार सिंह धीरज सिंह परमेश्वर कुमार आभास बढ़ाईक अजय बढ़ाईक रवि भगत सहित अन्य उपस्थित थे।

खबरें और भी हैं...