टंगरा मार्केट में बनी दुकानाें में सारी सुविधाएं:दुकानदाराें ने 72 लाख की लागत से बने वेडिंग जाेन काे नकारा, आज से हड़ताल, दुकानदाराें का कहना-वहां धंधा नहीं चलेगा

गुमला2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
जशपुर रोड में लगी दुकानें। - Dainik Bhaskar
जशपुर रोड में लगी दुकानें।
  • नप का कहना...दुकानदार के हित में जितना किया जा सकता है, किया गया है

नगर परिषद ने फुटपाथ पर सब्जी आदि बेचकर जीविका चलाने वाले लोगों को व्यवस्थित व स्थायी जगह देने के उद्देश्य से सुविधाओं से भरा पूरा वेडिंग जोन बनाकर दिया है। करीब 72 लाख रुपए की लागत से बने इस वेडिंग जोन का निर्माण टंगरा मार्केट में किया गया है, जो जशपुर रोड के बगल में है। यहां दुकानदारों के बैठने की व्यवस्था के अलावे सामान रखने के लिए लॉकर और शौचालय, बिजली जैसी सुविधाएं भी मुहैया कराई गई है।

फुटपाथी दुकानदार इस वेडिंग जोन में दुकान लगाकर अच्छे तरीके से दुकानदारी कर सकें। इसलिए दुकानदारों के बीच लॉटरी के माध्यम से जगह भी आवंटित की गई है, लेकिन फुटपाथी दुकानदार वहां दुकान लगाने को तैयार नहीं है।

उनका कहना है कि वहां धंधा नहीं चलेगा। उनका कहना है कि सुविधाएं कुछ भी मिले, खरीदार नहीं हाेंगे ताे वे भूखे मर जाएंगे। नप द्वारा जगह आवंटित करने के बाद दो-तीन दिनों तक कुछ दुकानदारों ने वेडिंग जोन में दुकान लगाई थी। किंतु बाद में पुन: वे फुटफाथ पर चले गए और जशपुर रोड में एनएच के किनारे दुकान लगाने लगे। लिहाजा वर्षों से चली आ रही सड़क जाम व हादसों की समस्या थमी नहीं बल्कि हर वक्त अनहोनी की आशंका प्रबल होती गई। इस रोड में वर्षों पुराने पेड़ भी स्थित होने के कारण बरसात व आंधी-तूफान में उनकी डालियां भी गिरती रहती है। इससे हादसे होते रहते हैं।

वेंडिंग जोन में दुकान लगने से मिलेगा लाभ : कलीम

नगर परिषद के उपाध्यक्ष कलीम अख्तर ने कहा कि यदि वेंडिंग जोन में सभी दुकानें लगेंगी, तो निश्चित ग्राहक खरीदारी के लिए वहीं जाएंगे। इससे किसी की दुकानदारी भी प्रभावित नहीं होगी। इसलिए दुकानदारों को नप के निर्णय का स्वागत कर अपनी जिद छोड़ देनी चाहिए। ग्रीन जोन का निर्माण शहर के विकास का नया आयाम लिखेगा। यदि जाम व हादसों से राहत मिलेगी, तो सभी की परेशानी दूर होगी।

जगह नहीं मिली, तो धरना देंगे दुकानदार : विनय

फुटफाथ दुकानदार संघ के अध्यक्ष विनय गोप सहित अन्य दुकानदारों का कहना है कि वेडिंग जोन में पर्याप्त जगह दुकान लगाने के लिए नहीं है और न ही वहां ग्राहक आएंगे। वे लोग वर्षो से जशपुर रोड में दुकान लगाते आ रहे है। इसलिए उन्हें वहीं पर छोटी-छोटी दुकानें बनाकर दी जाए। ताकि उनकी जीविका चल सके अन्यथा वे बुधवार से अनिश्चकालीन धरना पर बैठेंगे।

जिद की पूर्ति के लिए जिलेवासियों को नहीं फंसाएंगे : ईओ

एसडीओ सह नप के ईओ रवि आनंद ने कहा कि प्रशासन को दुकानदारों की चिंता है। इसलिए टंगरा मार्केट के अलावे पालकोट रोड में भी वेंडिंग जोन का निर्माण कराया गया। जहां सभी सुविधाएं उपलब्ध है। इसके बावजूद दुकानदार अपनी जिद पर अड़े है। जबकि जशपुर रोड में फुटफाथ की दुकानों की वजह से हादसें होते है।

रोजाना जाम लगता है। कुछ दुकानदारों की जिद की पूर्ति के लिए जिलेवासियों को जाम व हादसों की समस्या में फंसाया नहीं जा सकता है। इसके निदान की आवश्यकता थी,जिसे ग्रीन जोन के रूप में पूरा किया जा रहा है। ग्रीन जोन बनने से शहर का विकास होगा। वैसे दुकानदारों को दूसरे स्थान पर भी दुकान लगाने की अनुमति दिलाई जा रही है। प्रशासन जितना कर सकता है, उतना दुकानदारों के हित में किया गया है।

खबरें और भी हैं...