सामूहिक मांग-पत्र में हस्ताक्षर अभियान:धान का नगद भुगतान करने व लोन माफी प्रमाण पत्र के लिए हस्ताक्षर अभियान शुरू

गुमला5 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

झारखंड नवनिर्माण दल किसान मंच बिशुनपुर प्रखंड के तत्वावधान में धान खरीदी पर नगद भुगतान नहीं होने से सरकार द्वारा धान खरीद पर लागू न्यूनतम समर्थन मूल्य 20 रुपया 50 पैसा से वंचित किसानों को लाभ दिलाने के लिए तथा केसीसी लोन माफी का प्रमाण पत्र किसानों के बीच वितरण कराने की राज्यव्यापी हेमंत सरकार के नाम किसानों का सामूहिक मांग-पत्र में हस्ताक्षर अभियान बिशनपुर के स्वतंत्रता सेनानी वीर जतरा टाना भगत के गांव चिंगरी नवाटोली से शुरू किया गया।

खुले बाजार में 10 से 13 रुपया धान बेचने को मजबूर किसानों को एमएसपी व लोन माफी का लाभ दिलाने को लेकर हस्ताक्षर अभियान की शुरुआत करने पहुंचे। झारखंड नवनिर्माण दल मजदूर यूनियन के प्रखंड प्रभारी रामप्यार तूरी ने कहा कि सरकार की किसान विरोधी नीति के कारण आज मेहनत से उपजाई गई धान को खुले बाजार में 10 या 12 रुपैया किलोग्राम बेचने को किसान मजबूर हैं, जिसे किसी भी कीमत पर बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।

किसान हित की प्रस्तावित मांग को सरकार अविलंब पूर्ण करे नही तो 28 जनवरी 2022 को प्रखंड विकास पदाधिकारी बिशुनपुर के माध्यम से मुख्यमंत्री झारखंड सरकार को त्वरित कार्रवाई के लिए मांग-पत्र भेजते हुए जोरदार आंदोलन गांव से लेकर जिला तक की जाएगी।

किसानों ने सिंचाई की सुविधा, धान खरीद पर अविलंब कैश भुगतान की व्यवस्था बनाने की गारंटी करने, केसीसी लोन माफी के अलावे कई समस्या की हेमंत सरकार से समाधान करने की मांग की। हस्ताक्षर अभियान कार्यक्रम में मुख्य रूप से झारखंड नवनिर्माण दल किसान मंच के अब्राहम तिर्की, चंदर उरांव, लालदेव उरांव, ललित उराँव, मुन्ना उराँव, संगीता देवी, प्रभा देवी, विमला तिर्की, मुन्नी देवी, सुलेखा देवी, जुहानी देवी, बीना देवी के अलावा काफी संख्या में महिला व पुरुष सोशल डिस्टेंसिंग के तहत मौजूद थे।

खबरें और भी हैं...