पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

पीएम किसान सम्मान निधि के लाभुकों को केसीसी से जोड़ें:उपायुक्त ने जिला स्तरीय समन्वय समिति की बैठक में दिए कई दिशा निर्देश, बोले

लोहरदगा19 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

उपायुक्त दिलीप कुमार टोप्पो की अध्यक्षता में बुधवार को विशेष जिला स्तरीय समन्वय समिति की बैठक हुई। बैठक में मुख्य रूप से प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि के लाभुकों को केसीसी से आच्छादित करने से संबंधित आवश्यक निर्देश संबंधित बैंक शाखा प्रबंधकों को दिये गये। बैठक में अग्रणी बैंक प्रबंधक द्वारा जानकारी दी गई कि बैंकों के पास मात्र 1045 आवेदन ही ऐसे हैं जो प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि के लाभुकों के हैं जिन्हें केसीसी से आच्छादित किया जाना है।

वहीं जिला कृषि पदाधिकारी द्वारा जानकारी दी गई कि जिले के 13000 आवेदन बैंकों के पास लंबित हैं। इस बिंदु पर उपायुक्त द्वारा स्पष्ट रूप से निर्देश दिया गया कि कृषि विभाग और बैंक द्वारा बताये गये आंकड़ों में काफी असमानता है। इस असमानता का एक सप्ताह के भीतर सत्यापन (री-वैलिडेट) कर लें।

जिला कृषि पदाधिकारी इस संबंध में संबंधित प्रखण्ड विकास पदाधिकारी/प्रखण्ड कृषि पदाधिकारी/एटीएम/बीटीएम/कृषक मित्र को स्पष्ट निर्देश दें और बैंकों के पास पड़े आवेदनों का सत्यापन (री-वैलिडेट) करा कर अगले दो-तीन दिनों के भीतर बैंकों को उपलब्ध करायें। साथ ही 15 जुलाई 2021 से पूर्व सभी आवेदनकर्ताओं, जो पीएम किसान सम्मान निधि के लाभुक हैं, को केसीसी से आच्छादित करें। जो बैंक केसीसी स्वीकृत करने में अपनी रूचि नहीं दिखा रहे हैं उन बैंकों पर उपायुक्त द्वारा सख्त नाराजगी व्यक्त की गई।

बैठक में सभी प्रखंडों में स्थित बैंकों में लंबित आवेदनों की समीक्षा की गई। बैठक में उप विकास आयुक्त अखौरी शशांक सिन्हा, सर्टिफिकेट अफसर बिरसाय उरांव, अग्रणी बैंक प्रबंधक पंचू भगत, डीडीएम नाबार्ड, जिला कृषि पदाधिकारी शिव कुमार राम समेत विभिन्न बैंकों के शाखा प्रबंधक उपस्थित रहे।बैठक में उपायुक्त द्वारा बैंकों को फसल केसीसी, गव्य केसीसी, प्रधानमंत्री स्वनिधि योजना, पीएमईजीईपी, स्वयं सहायता समूहों के बीच क्रेडिट लिंकेज, मुख्यमंत्री कृषि ऋण माफी योजना आदि का लाभ दिये जाने का भी निर्देश दिया गया।

खबरें और भी हैं...