पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

दुखद:जिले को 80 टन धान के बिचड़ों की जरूरत किसानों को मिल रहा सिर्फ दो टन बीज

गुमलाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • जिला कृषि पदाधिकारी ने भी माना, किसानों को अनुदानित बीज काफी कम दिया जाता है
Advertisement
Advertisement

कोरोना महामारी के बीच गुमला जिले के किसानों ने खरीफ फसल की खेती के लिए कमर कसकर खेतों में उतर पड़े हैं। मानसून आने के पूर्व ही वर्षा हो जाने के कारण किसान धान का बीचड़ा कर दिए थे। अब धनरोपनी भी प्रारंभ कर दिए हैं। कृषि विभाग किसानों को अनुदानित मूल्य बीच देने का दाव करती है। किंतु किसानों के लिए अनुदानित मूल्य पर बीज मुहैया कराने की योजना मात्र दिखावा के लिए होता है।

कृषि विभाग से प्राप्त जानकारी के अनुसार गुमला जिला में धान की खेती के लिए किसान करीब 80 एमटी धान का बीचड़ा करते है। जबकि सरकार की ओर से किसानों को अनुदानित मूल्य पर मात्र डेढ़ से दो मिट्रिक टन ही धान बीज उपलब्ध कराया जाता है। ऐसे में किसानों के लिए सरकारी अनुदानित धान अथवा खरीफ फसल का बीज ऊंट के मुंह में जीरा के समान होता है। किसानों को बीज के लिए निजी दुकानों के शरण में ही जाना पड़ता है।

Advertisement
0

आज का राशिफल

मेष
मेष|Aries

पॉजिटिव- अगर कोई विवादित भूमि संबंधी परेशानी चल रही है, तो आज किसी की मध्यस्थता द्वारा हल मिलने की पूरी संभावना है। अपने व्यवहार को सकारात्मक व सहयोगात्मक बनाकर रखें। परिवार व समाज में आपकी मान प्रतिष...

और पढ़ें

Advertisement