पूजा समिति:नहाय-खाय कल, छठ महापर्व में पवित्रता के लिए घाटों की सफाई शुरू

गुमला25 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
रोड स्थित तालाब का निरीक्षण करते नप उपाध्यक्ष व अन्य - Dainik Bhaskar
रोड स्थित तालाब का निरीक्षण करते नप उपाध्यक्ष व अन्य
  • सिसई रोड छठ तालाब में न्यू विशाल क्लब छठ पूजा समिति कर रही सफाई व रंग रोगन, पानी को भी किया जाएगा साफ

शुद्धता, पवित्रता और आस्था का महापर्व छठ 8 नवंबर को नहाय खाय के साथ शुरू होगा। इसके बाद 9 नवंबर को व्रतियों के घरों पर खरना होगा। 10 नवंबर को अस्ताचलगामी और 11 नवंबर को उदयीमान सूर्य को प्रात: अर्ध्य दिया जाएगा। इधर छठ पर्व को लेकर तैयारियां अभी से ही शुरू हो गई है। विभिन्न छठ घाटों में विधि-व्यवस्था संभालने वाली छठ पूजा समितियां सक्रिय होकर साफ सफाई, रंग रोगन व साज सज्जा के काम में जुट गई है। घाटों की सफाई के बाद तालाबों के पानी को साफ करने के लिए चूना डालने का काम शुरू कर दिया गया है।

सिसई रोड स्थित छठ तालाब में न्यू विशाल क्लब छठ पूजा समिति द्वारा शनिवार को साफ सफाई व रंग रोगन का कार्य शुरू कराया गया। तालाब के पानी को साफ करने के चूना डाला गया। इस कार्य में समिति के अध्यक्ष विनोद विश्वकर्मा, उपाध्यक्ष विनोद जाजोदिया, सचिव सौरभ सिंह, राजदीप कुमार, दीपक गुप्ता, लक्की जायसवाल, राहुल कुमार, राहुल कुमार गुप्ता, नितेश कुमार, सिमरजीत सिंह, राहुल साहू, मिथिलेश कुमार, लछमन सिंह, बादल कुमार सहित अन्य सदस्य लगे हुए हैं।

अध्यक्ष बिनोद विश्वकर्मा ने बताया कि 8 नवंबर को दोपहर तक तालाब को छठ पूजनोत्सव के लिए पूर्ण रूप से तैयार कर लिया जाएगा। तालाब को आकर्षक बनाने एवं छठव्रतियों एवं श्रद्धालुओं की सुविधा को ध्यान में रखते हुए तैयारियां की जा रही है। संध्या व प्रातः अर्ध्य के दौरान तालाब के चारों ओर पर्याप्त मात्रा में रोशनी की व्यवस्था की जा रही है।

सूर्य की प्रतिमा स्थापित की जाएगी
न्यू विशाल क्लब के सचिव सौरभ सिंह व लक्की जायसवाल ने बताया कि इस वर्ष छठ पूजा के दौरान सिसई रोड स्थित छठ तालाब में श्रद्धालुओं के दर्शन के लिए सात घोड़ों पर सवार भगवान सूर्य की प्रतिमा स्थापित की जाएगी। यह प्रतिमा विगत तीन वर्षों से छठ पूजा के दौरान स्थापित की जा रही है। यह लोगों के आकर्षण का मुख्य केंद्र बना रहेगा। उन्होंने कहा कि प्रतिमा का निर्माण कार्य अंतिम पायदान पर है। मूर्तिकार राजकुमार प्रजापति उसे अंतिम रूप देने में लगे हुए हैं। यह प्रतिमा संध्या व प्रातः अर्ध्य के दौरान दो दिन तक तालाब की शोभा बढ़ायेगी। इसके बाद तालाब में ही प्रतिमा का विसर्जन किया जाएगा। इधर, समाजसेवी शिशिर कुमार ने झारखंड सरकार का आभार प्रकट करते हुए कहा कि हेमंत सोरेन सरकार ने इस बार तालाब-नदी आदि स्थानों के घाटों में अर्ध्य देने की घोषणा स्वागत योग्य है। सरकार ने लोगों का मान-सम्मान रखा है।

नगर परिषद उपाध्यक्ष ने छठ घाटों की सफाई का लिया जायजा
नगर परिषद गुमला के उपाध्यक्ष कलीम अख्तर उर्फ कल्लन ने शनिवार को शहरी क्षेत्र के सिसई रोड स्थित छठ घाट (भट्टी तालाब), मुरली बगीचा तालाब, वन तालाब, करमटोली तालाब आदि का निरीक्षण किया। इस दौरान उपाध्यक्ष ने पाया कि छठ पूजा समिति के सदस्यों द्वारा घाट की सफाई का काम किया जा रहा है।

वहीं नगर परिषद के सफाईकर्मी भी लगे हुए हैं। उपाध्यक्ष ने पूजा समिति के सदस्यों से बात करते हुए छठ पूजनोत्सव को लेकर नगर परिषद की ओर से हरसंभव सहयोग करने की बात कही। उन्होंने कहा कि छठ महापर्व लोक आस्था का महापर्व है। इस पर्व को आस्था के साथ शुद्धता और पवित्रता के साथ किया जाता है। छठ घाटों एवं उसके आसपास सफाई कराई जा रही है।

खबरें और भी हैं...