चित्रगुप्त महा परिवार:चित्रगुप्त भगवान की पूजा, आज होगा प्रतिमा विसर्जन

गुमलाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
पूजा के उपरांत चित्रगुप्त परिवार के लोग। - Dainik Bhaskar
पूजा के उपरांत चित्रगुप्त परिवार के लोग।
  • डीएसपी रोड स्थित चित्रगुप्त भवन में लोगों के पाप-पुण्य का लेखा-जोखा करने वाले चित्रगुप्त महाराज की पूजा की गई

चित्रगुप्त पूजा पर स्थानीय डीएसपी रोड स्थित चित्रगुप्त भवन में चित्रगुप्त महा परिवार की ओर से भक्तिभाव पूर्वक चित्रगुप्त पूजा का आयोजन किया गया। आचार्य ने पूरे विधि-विधान से पूजा कराई। इस दौरान भक्तों ने श्रद्धा पूर्वक पूजा में भाग लिया। आचार्य ने भक्तों को कथा में बताया कि कार्तिक मास के शुक्ल पक्ष द्वितीया तिथि यम द्वितीया के नाम से भी प्रसिद्ध है। हर वर्ष इस दिन चित्रगुप्त पूजा की जाती है।

उन्होंने बताया कि चित्रगुप्त महाराज देवताओं के लेखापाल यानी मनुष्यों के पाप-पुण्य का लेखा-जोखा करने वाले हैं। इस दिन नई लेखनी या कलम को चित्रगुपत महाराज का प्रतिरूप मानकर पूजा की जाती है। व्यापारी वर्ग के लिए यह नववर्ष का प्रारंभ माना जाता है। मौके पर जिला समिति के पदाधिकारी नीरू बाबू, शिव प्रसाद, अध्यक्ष डॉक्टर एडीएन प्रसाद, कौशलेंद्र जमुआर, ज्योति नारायण लाल, वीपी नरेश, मुकेश श्रीवास्तव, देवभूषण प्रसाद, पूजा समिति के स्वप्न राय, अखौरी शशि रंजन, रितेश कुमार, निर्मल सिन्हा, राजीव रंजन श्रीवास्तव, विपिन सिन्हा, विकास श्रीवास्तव, आशुतोष श्रीवास्तव, निशित रंजन,, श्रेया स्मृति, मौली सिन्हा, कुमुद, मालविका श्रीवास्तव, सपना सिन्हा, अखौरी आकाश नंदन, मिथिलेश अखौरी व राकेश सिन्हा आदि थे।

भक्तों ने पूजा कर की सुख, शांति और समृद्धि की कामना
श्रद्धालुओं ने विधिपूर्वक पुष्प, अक्षत्, धूप, मिठाई, फल आदि अर्पित कर चित्रगुप्त के प्रतिमा के सम्मुख पूजा करते हुए सुख-शांति व समृद्धि की कामना की। जिसके बाद प्रसाद वितरण किया गया। शाम में आरती की गई। अधिवक्ता पप्पू श्रीवास्तव व गौरव कुमार ने बताया कि रविवार को अपराह्न दो बजे नगर शो भा यात्रा सह प्रतिमा विसर्जन के बाद शांति जल ग्रहण का कार्यक्रम होगा। इस बार सर्वसम्मति से प्रीतिभोज सह स्नेह मिलन समारोह का आयोजन किया गया है। विसर्जन व शांतिजल ग्रहण में झारखंड सरकार द्वारा निर्गत दिशा निर्देश का पालन किया जाएगा।

खबरें और भी हैं...