पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

आज कलश स्थापन:140 साल पहले बंगाली परिवार ने बांग्ला दुर्गा स्थान पर की थी पूजा की शुरुआत

हजारीबाग15 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • रेडियो से महालया का स्रोत गायन का लाइव प्रसारण करने वाले वीरेंद्र कृष्ण भद्र का मंदिर में हो चुका है आगमन

शनिवार से कलश स्थापना होने के बाद यहां शारदीय नवरात्र की शुरुआत होगी। जिले में बंगाली दुर्गा स्थान का एक ऐतिसहिक महत्व है। खास बात यह है कि इस मंदिर का इतिहास 140 साल पुराना है। उस जमाने में दुर्गा पूजा उठाने का प्रचलन नहीं के बराबर था, बंगाली परिवार ने ही यहां दुर्गा पूजा की शुरुआत की थी। सबसे बड़ी अहमियत इस मंदिर की यह है कि ऑल इंडिया रेडियो से महालया का स्रोत गायन का लाइव प्रसारण करने वाले वीरेंद्र कृष्ण भद्र का आगमन इस मंदिर में हो चुका है।

आज भी लोग इनका नाम बड़ा ही आदर पूर्वक लेते है। इनके स्वर में जब लोग महालया गायन सुनते है, तो उनके रोंगटे आज भी खड़े हो जाते हैं । ऐसा लगता है, मानो साक्षात दुर्गा मां यहां पधार चुकी है, और अब दर्शन देने वाली है।

मंदिर में और क्या है खास
इस मंदिर की खासियत यह भी है कि शहर के जाने-माने शिक्षाविद व समाजसेवी राय बहादुर यदुनाथ मुखर्जी ने मंदिर को बनाया था। दुर्गा स्थान मंदिर के नाम से प्रचलित इस मंदिर में 1881 से पूजा की शुरुआत हुई थी। आज भी शहर में राय बहादुर यदुनाथ मुखर्जी के वंशज हजारीबाग में रहते हैं व दुर्गा पूजा में बढ़-चढ़कर भाग लेते हैं।

16 सितंबर 1957 को हजारीबाग आए थे वीरेंद्र कृष्ण भद्र, यूनियन क्लब एंड लाइब्रेरी में रखा गया प्रमाण
लोगों का कहना है कि श्री भद्र जैसा महालया का स्रोत गायन अब तक किसी भी गायक ने नहीं गाया। वे कोलकाता में महालया का स्रोत गायन करते करते रो पड़ते थे। यूनियन क्लब एंड लाइब्रेरी में उनके आने का प्रमाण है। वे 16. सितंबर 1957 को यहां आए थे। श्री भद्र को देश ही नहीं विदेशों में भी दुर्गा पूजा के महालया स्रोत गायन के लिए जाने जाते हैं । 1931 में पहली बार उन्होंने ऑल इंडिया रेडियो से महालया का स्रोत गायन किया था ।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज आप अपने अंदर भरपूर विश्वास व ऊर्जा महसूस करेंगे। आर्थिक पक्ष मजबूत होगा। तथा अपने सभी कार्यों को समय पर पूरा करने की भी कोशिश करेंगे। किसी नजदीकी रिश्तेदार के घर जाने की भी योजना बनेगी। तथ...

और पढ़ें