जल संरक्षण / ईचाक में जलछाजन से बचाया गया 447.32 करोड़ लीटर वर्षा जल

447.32 crore liters of rainwater saved from water harvesting in Ichak
X
447.32 crore liters of rainwater saved from water harvesting in Ichak

  • योजना के सहयोग से मत्स्य पालन, सब्जी उत्पादन तथा भू जल संरक्षण के लिए कारगर साबित हुआ

दैनिक भास्कर

Jun 30, 2020, 04:00 AM IST

हजारीबाग. वर्षा जल के बहकर बर्बाद होने से बचाने के लिए नाबार्ड जलछाजन परियोजना के सहयोग से जिले के ईचाक प्रखंड क्षेत्र में बेहतर कार्य हुआ है । इसके तहत ईचाक में 52 तालाब, 440 हैक्टेयर में बने ट्रेंच कम बंड और वैट के कारण वर्षा जल को बचाया गया । इससे 447.32 करोड़ लीटर पानी का संचयन किया जा रहा है।  

इस तकनीक से कई बंजर भूमि क्षेत्र में हरियाली तथा जलस्तर को बढ़ाने में सफलता मिली है। नाबार्ड से संपोषित आधारभूत संरचना विकास योजना धरातल पर उतार कर आस पास के कई गांवों में इस योजना के सहयोग से मत्स्य पालन, सब्जी उत्पादन तथा भू जल संरक्षण के लिए कारगर साबित हुआ है । 

एक हेक्टेयर में 70 ट्रेंच कम बंड का हाेता है निर्माण 

इस कार्य के कार्यकारी एजेंसी जन जागरण केंद्र है। उसी संस्था के प्रयास से परियोजना क्षेत्र में कई कार्यक्रम आयोजित किए गए।  केंद्र के संस्थापक स्व. रामेश्वर सिंह का कृषि के लिए खेतों की हरियाली और किसानों की खुशहाली के लिए सिंचाई का पानी एक बुनियादी जरूरत है, जिसे संरक्षण करना अनिवार्य है। जन जागरण केंद्र के वर्तमान सचिव संजय कुमार सिंह ने बताया कि एक हेक्टेयर जमीन पर कुल 70 ट्रेंच कम बंड का निर्माण होता है, जिसमें ग्रामीणों के सहयोग से कुल 440 हेक्टेयर ट्रेंच कम बंड का निर्माण कराया गया है। 

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना