धोखधड़ी का मामला:अफीम मामले में जेल में बंद डीड राइटर पर चेक बाउंस का भी केस, 2 साल से था फरार

हजारीबाग9 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • चतरा के राजपुर के सत्यनारायण सिंह के साथ की थी 10 लाख की धोखधड़ी

आरटीआई एक्टिविस्ट राजेश मिश्रा की मोटरसाइकिल की डिक्की में अफीम और ब्राउन शुगर रखने के मामले में जेल में बंद डीड राईटर मोहम्मद सरफराज उर्फ गुड्डू एक पुराने मामले में भी फरार चल रहा था। उसके विरुद्ध गिरफ्तारी और कुर्की वारंट पूर्व से जारी है।

वह लोहसीघना थाना क्षेत्र के पगमिल स्थित हश्मिया कॉलोनी का रहने वाला है। मो. सरफराज उर्फ गुड्डू चेक बाउंस मामले में पिछले दो सालों से फरार चल रहा है। उसके विरुद्ध कोर्ट ने वारंट, इश्तहार के बाद कुर्की भी जारी किया है। मामला चतरा जिला क्षेत्र से जुड़ा है।

चतरा जिला के राजपुर थाना क्षेत्र निवासी सत्यनारायण सिंह के साथ 10 लाख रुपए का धोखाधड़ी करने को लेकर चेक बाउंस मामले में यह मामला लोहसिंघना थाना में दर्ज किया गया। जिसमें कुर्की वारंट जारी किया गया। बार बार नोटिस के बाद न्यायालय में उपस्थित न होने के कारण कोर्ट ने वारंट निर्गत किया था। मामला फिलहाल न्यायालय में लंबित चल रहा है। पीड़ित के अनुसार सरफराज ने एक जमीन के बदले पैसे लिए, इसके बाद उसने ना ही जमीन दी और ना हीं उसने पैसे वापस किए।

जेल जाने के बाद सरफराज के खुले राज गौरतलब है कि 3 मार्च को आरटीआई कार्यकर्ता

राजेश मिश्रा को साजिश रच कर गिरफ्तार कराने वाले पांच में एक मो. सरफराज भी शामिल है। उस पर साजिशकर्ता के साथ मिलकर मोटरसाइकिल के डिक्की में अफीम रखने का आरोप है। जानकारी के मुताबिक उसने चतरा से अफीम भी खरीद कर लाया था, जिसकी पुलिस पड़ताल कर रही है।

एसपी कार्तिक एस ने खुद संज्ञान लेते हुए सरफराज सहित पांच लोगों को गिरफ्तार कर 05 मार्च को जेल भेज दिया था। जेल जाने के बाद सरफराज के काले कारनामे सामने आने लगे हैं। बताया जाता है कि सरफराज दर्जन भर से भी अधिक लोगों से लाखों रुपए जमीन के नाम पर लेकर ठगी कर चुका है। पीड़ित परिवार की बात माने तो पुलिस भी हमेशा सरफराज का साथ दिया।

खबरें और भी हैं...