हूल दिवस / कांग्रेसियों ने हूल दिवस पर सिदाे-कान्हू को किया याद

X

  • सिदो-कान्हू की जीवनी पर डाला प्रकाश, आदम कद प्रतिमा पर किया माल्यार्पण, दी श्रद्धांजलि

दैनिक भास्कर

Jul 01, 2020, 04:00 AM IST

हजारीबाग. हजारीबाग जिला कांग्रेस कमेटी ने संथाल परगना के महान क्रांतिकारी शहीद सिदाे-कान्हू को हूल दिवस पर याद करते हुए उनकी प्रतिमा पर माल्यार्पण कर इन्हें भावभीनी श्रद्धांजलि अर्पित की। इसके पूर्व कृष्ण बल्लभ आश्रम कांग्रेस कार्यालय में एक सभा का आयोजन किया गया। इसकी अध्यक्षता जिला कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष अवधेश कुमार सिंह ने किया।

इस अवसर पर दोनों शहीदों के जीवन पर प्रकाश डालते हुए उन्होंने कहा कि सिदाे मुर्मू का जन्म 1815 तथा कान्हू मुर्मू का जन्म 1820 में हुआ था। संथाल विद्रोह में सक्रिय भूमिका निभाने वाले इनके दो भाई और थे। जिनका नाम चांद मुर्मू और भैरव मुर्मू था। इसके अलावा इनकी दो बहनें भी थी जिसका नाम फुलो मुर्मू एवं झानो मुर्मू था। वही पिता का नाम चुन्नी मांझी था । सिद्धो को अगस्त 1855  में पकड़ कर अंग्रेजों ने पंचकठिया नामक जगह पर बरगद के पेड़ पर फांसी दे दी । वह पेड़ आज भी पंचकठिया में स्थित है जिसे शहीद स्थल कहा जाता है जबकि कान्हू को भोगनाडीह में फांसी दे दी गई।

पर आज भी वह संथालों के दिलों में जिंदा हैं। मौके पर श्रद्धा सुमन अर्पित करने वालों में पूर्व जिला अध्यक्ष जवाहर लाल सिन्हा, आबिद अंसारी, डाॅ. जमाल अहमद, शशि मोहन सिंह, अजय कुमार गुप्ता, निसार खान, मंसूर आलम, राजू चौरसिया, डाॅ. प्रकाश कुमार, सुनील सिंह राठौर, सदरूल होदा, विजय कुमार सिंह, नसीम खान, मजहर हुसैन, दिलीप कुमार रवि, लाल बिहारी सिंह, रघु जायसवाल, अनुप चौरसिया, सैयद अशरफ अली, सलीम रजा, अब्दुल करीम, संजय कुमार तिवारी के अतिरिक्त कई कांग्रेसी कार्यकर्ता उपस्थित थे।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना