प्रवासी की मौत / ट्रांजिट कैंप में प्रवासी मजदूर की मौत के मामले में घोर लापरवाही : बटेश्वर

X

दैनिक भास्कर

May 23, 2020, 05:00 AM IST

हजारीबाग. संत कोलंबा फुटबॉल ग्राउंड में 18 मई की रात इचाक प्रखंड के  25 वर्षीय युवक बैजनाथ राम की मौत का मामला गर्माता जा रहा है। इस मामले में भाजपा नेता बटेश्वर मेहता ने पूर्व मुख्यमंत्री बाबूलाल मरांडी से दूरभाष पर बात की है। इस संबंध में मेहता ने कहा कि युवक की मौत के मामले में प्रशासन व सरकार की घोर लापरवाही है। युवक पेट दर्द से तड़पता रहा पर किसी ने उसकी सुध नहीं ली। जिले के उपायुक्त भी यह स्वीकार कर चुके हैं कि सभी संसाधन मौजूद होने के बाद भी लापरवाही हुई। यहां तक कि 108 एंबुलेंस ने उसे ना जीवित अवस्था में मदद की और ना मरने के बाद। 4 दिन बाद भी युवक का  कोरोना  जांच रिपोर्ट तक नहीं आया । मृतक के माता-पिता भी नहीं है । परिवार में सिर्फ एक बहन है। चार दिनों से उसका शव मुर्दाघर में पड़ा है । गांव के लोग परेशान हैं । कहा कि हद तब हो गई जब सरकारी एंबुलेंस ने भी युवक का लाश उठाने से इंकार कर दिया। अब आप समझ सकते हैं कि जिले में प्रशासनिक व्यवस्था व चिकित्सा का क्या हाल है। श्री मेहता ने इस गंभीर मामले का  उच्च स्तरीय जांच की मांग की है और कहा है कि मृतक के मामले मैं जो भी दोषी हो चाहे वह अधिकारी व कर्मी उसे बर्खास्त किया जाए  वही मृतक के परिवार वाले को सरकार मुआवजा दे।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना