पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

नुकसान:टाउन रेलवे स्टेशन पर रखे एफसीआई के चावल-गेहूं के हजारों बोरे पानी से भींगे

कटकमदागएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • जहां से विभिन्न प्रखंडों के गोदाम के माध्यम से जन वितरण प्रणाली दुकानों तक पहुंचाया जाता

हजारीबाग टाउन रेलवे स्टेशन पर गुरुवार को एफसीआई का गेहूं, चावल के हजारों बोरे के पैकेट बारिश के पानी से भींग गया। ऐसा ठेकेदार की लापरवाही के कारण हुआ। जानकारी के मुताबिक रेलवे स्टेशन पर 12 मई को ही करीब 42 बैगन गेहूं ,चावल के करीब 52 हजार बोरे का पैकेट अनलोड कर डंप कर रख दिया गया था। अनाज को राज्य भंडारण निगम (एसडब्ल्यूसी) चतरा व केंद्रीय भंडारण निगम (सीडब्ल्यूसी) हजारीबाग भेजा जाना था।

जहां से विभिन्न प्रखंडों के गोदाम के माध्यम से जन वितरण प्रणाली दुकानों तक पहुंचाया जाता है। ट्रकों से गोदाम तक ले जाने की ठेकेदारी हजारीबाग व चतरा के ठेकेदार को मिली हुई है। लेकिन ठेकेदार के मैनेजर व मुंशी की लापरवाही से चावल, गेहूं के बोरे रातभर स्टेशन पर ही डंप रहा। गोदाम तक नहीं पहुंचाया जा सका। दूसरे दिन अचानक हुई तेज बारिश से डंप कर रखे बोरे भींगने लगा। ठेकेदार के मैनेजर व मुंशी ने कुछ मजदूरों के सहयोग से जैसे-जैसे तिरपाल ढककर बचाने का प्रयास किया। बावजूद करीब तीन हजार से अधिक बोरे बारिश का पानी से भींग गये। डंप कर रखे ऊपर के अधिकांश बोरे पानी से तराबोर हो गया। कई बोरे को खोल कर देखा गया तो चावल पूरी तरह भींग कर फूल चुका था। लापरवाही को छुपाने के लिए ठेकेदार के मैनेजर और मुंशी ने भीगे चावल के बोरे को ही ट्रकों में लोड करना शुरू कर दिया। अब देखना होगा कि एफसीआई गोदाम तक चावल पहुंचाने के बाद क्या होगा? एक बोरी में 50 केजी चावल है और बाजार मूल्य 15 से ₹18 प्रति किलो है।

खबरें और भी हैं...