पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

योजना का विरोध:एलआईसी को निजी व्यवसायियों को देना सरकार की ऐतिहासिक भूल होगी

हजारीबाग10 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
प्रेस कॉन्फ्रेंस में संघ के पदाधिकारी। - Dainik Bhaskar
प्रेस कॉन्फ्रेंस में संघ के पदाधिकारी।

बीमा कर्मचारी संघ, हजारीबाग मंडल के पदाधिकारियों ने राष्ट्रीय मौद्रीकरण योजना का विरोध करते हुए कहा कि इसका एकमात्र उद्देश्य देश की सम्पति को बेचना है। ऐसा लगता है कि मोदी सरकार पूर्व अर्जित सारी परिसम्पत्तियां आनन-फानन में बेच देना चाहती है। संघ के पदाधिकारियों ने कहा कि एलआईसी देश का हीरा है और केंद्र सरकार हीरा को बेचने की फिराक में है।

कहा कि सार्वजनिक क्षेत्र को खड़ा करने में वर्षों की मेहनत और आम जनता का पैसा लगा है। अब जब ये क्षेत्र लाभप्रद स्थिति में है तो इसे निजी व्यवसायियों को भाड़े पर दे देना ऐतिहासिक भूल होगी। बीमा कर्मचारी संघ के प्रतिनिधियों ने कहा कि सरकार एलआईसी को पूँजी बाजार में सूचीबद्ध कर रही है, इसका विनाशकारी प्रभाव बीमा उद्योग पर पड़ेगा।

एलआईसी के शेयर को बेचना उन्हीं घपलेबाज पूंजीपतियों को बीमा व्यवसाय को सौंपना जिनके घपले और घोटालों की वजह से इसका राष्ट्रीयकरण किया गया था। संघ भारत सरकार द्वारा एलआईसी में आईपीओ के माध्यम से विनिवेशीकरण का पुरजोर विरोध करता है। संघ के अध्यक्ष महेंद्र किशोर प्रसाद, महासचिव जे सी मित्तल ने कहा कि ब्रांड फाइनेंस इंश्योरेंस-100 द्वारा जारी सर्वेक्षण रिपोर्ट के अनुसार एलआईसी विश्व की तीसरी सबसे मजबूत ब्रांड तथा 10वां सबसे मूल्यवान ब्रांड बन चुका है।

अपने स्थापना के बाद से एलआईसी भारत सरकार को अब तक लगभग 28,700 करोड़ रुपया लाभांश के रूप में दे चुकी है। द्वितीय पंचवर्षीय योजना 1956-61 से लेकर 13 वीं 2017-2022 तक में कुल 55 लाख 76 हजार 113 करोड़ रूपया का योगदान दिया है ।

एलआईसी ने आधारभूत सरंचना जैसे रेलवे, सिंचाई, राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण इत्यादि, केंद्र सरकार तथा विभिन्न राज्य सरकारों को अभी तक 26 लाख 86 हजार 527 करोड़ रूपया दिया है। इस दौरान एलआईसी ने लगभग 54,000 करोड़ रूपया अधिशेष कमाया जिसका 95% यानि लगभग 51,000 करोड़ रूपया पॉलिसीधारकों के बीच बोनस के रूप में भुगतान किया है। इस प्रेस कॉन्फ्रेंस को संघ के अध्यक्ष महेंद्र किशोर प्रसाद, उपाध्यक्ष जे. पी. मुंडा, उपाध्यक्ष अरविन्द कुमार, महामंत्री जे.सी.मित्तल, सांगठनिक सचिव मदन कुमार पाठक ने सं‍बोधित किया। मौके परमहेंद्र सिंह, विवेक चंद्र सहाय, बबन कुमार, दुर्गा सिंह भी मौजूद थे।

खबरें और भी हैं...