पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

जांच:कोविड केयर आउटरीच शिविरों में गरीब ग्रामीणों को स्वास्थ्य सुरक्षा, हाई बीपी और शुगर के क्रमशः 185 और 386 मरीज निकले

हजारीबाग24 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • ताकि उनके पास जाने वाले लोगों का बेहतर व सुरक्षित इलाज हो सके

गिवइंडिया, यूएस गिवइंडिया फाउंडेशन, स्कोल फाउंडेशन और लिंडे इंडिया के सहयोग से नव भारत जागृति केंद्र आयोजित कोविड केयर ग्रामीण आउटरीच शिविरों में लोगों की स्वास्थ्य सुरक्षा संबंधी पहल जारी है। पिछले 15 जून ससदर, दारू और कटकमदाग प्रखंडों में पंचायत स्तर पर लगे ऐसे 32 आउटरीच शिविरों में 126 गांवों के 2368 निवासियों के ब्लडप्रेशर, ब्लडशुगर, ऑक्सीजन स्तर, बुखार, सर्दी-खांसी/गला संक्रमण आदि की जांच हुई।

उनमें हाई बीपी और शुगर के क्रमशः 185 और 386 मरीज निकले। इन शिविरों में लगभग 85% लोगों को उनकी बीमारी के लक्षणों को देखते हुए उपस्थित डॉक्टर के परामर्श पर निःशुल्क दवाइयां मिल रही हैं। इसके अलावा देहाती क्षेत्रों में स्वास्थ्य सेवा प्रदान करने वाले 36 ग्रामीण चिकित्सकों को इंफ्रारेड थर्मामीटर, ऑक्सीमीटर और सेनिटाइजर उपलब्ध करवाया गया है ताकि उनके पास जाने वाले लोगों का बेहतर व सुरक्षित इलाज हो सके। नव भारत जागृति केंद्र के विनय भट्ट ने बताया कि कोविड केयर आउटरीच शिविर कार्यक्रम के तहत दो टीमों की सहायता से रविवार के अलावा हर दिन दो शिविरों का आयोजन होता है और इनमें अंजनी सिन्हा कार्यक्रम प्रबंधक, सोहर गोप, राजेश वाहन चालक, सुनीता देवी, नीलम कुमारी एएनएम, राजू कुमार, अजय सिन्हा मोबिलाइजर, डॉ. मेघा सिन्हा और डॉ. आरएन सिन्हा एमबीबीएस चिकित्सक का सक्रिय योगदान है। हजारीबाग जिला के 430 गांवों से लगभग 9000 लोगों की चिकित्सीय जांच और उन्हें निःशुल्क दवा उपलब्धता का लक्ष्य लेकर चला यह आउटरीच शिविर कार्यक्रम सामूहिक सहयोग से कोविड महामारी को नियंत्रित करने का संदेश दे रहा है।

खबरें और भी हैं...