पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

नकदी आय का माध्यम:झारखंड 53 किस्म के मशरूम, इनमें 7-8 का ही उपयोग

हजारीबाग12 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • जंगल में पहली जोरदार बारिश के बाद बाेविस्ता निग्रिसेस्न और बोविस्ता प्लंबिया निकलता है

मुरारी सिंह, झारखंड में 53 किस्म के मशरूम मिलते हैं। जून से सितंबर तक जंगल और घासवाली भूमि पर मशरूम निकलते हैं। इनमें से सात-आठ किस्म के बारे में लोगों को पता है। यही बाज़ार में बिकने आते हैं। जनजातीय आबादी की महिलाओं को यह सीजनल रोजगार प्रदान करता है। नकदी आय का माध्यम बनता है। मशरूम के परंपरागत ज्ञान का विस्तार आदिवासियों से ही हुआ है। आदिवासी जनजातियों के साथ रहकर अब दूसरी जातियों के लोग मशरूम को पहचानने लगे हैं। मूलतः मशरूम फंगस है।

इनके बीज या स्पोर जमीन में दबे होते हैं। अनुकूल वातावरण मिलने पर स्वतः जमीन की उपरी सतह पर दिखने लगते हैं। जून में जंगल में बोविस्ता की दो प्रजातियां जमीन की सतह पर दिखती हैं। पहली जोरदार बारिश के बाद बाेविस्ता निग्रिसेस्न और बोविस्ता प्लंबिया निकलता है। इन्हें ही लोग सफेद फुटका और चंदन फुटका के नाम से जानते हैं। बाजार में यही सबसे ज्यादा कीमत पर पहले बिकती है। पिछले माह फुटका 400 रुपए किलो तक बिका था। दूसरी किस्म टर्मितोमाइक्स लेटेस्तुई है। इसका स्थानीय नाम टेकनस है। अन्य बिकनेवाले किस्मों में ट्रिचोलोमा टैरौम, कैंथारेलस सिबारियस (लावा), रस्सुला डेलिका (उबेर) है। स्थानीय बाजार में बिकने वाले सात-आठ किस्मों को लोग फुटका, टेकनस, भोरंडा, उबेर, मुर्गा, लावा और बंसखुखड़ी के नाम से जानते हैं।

0

आज का राशिफल

मेष
मेष|Aries

पॉजिटिव- मेष राशि के लिए ग्रह गोचर बेहतरीन परिस्थितियां तैयार कर रहा है। आप अपने अंदर अद्भुत ऊर्जा व आत्मविश्वास महसूस करेंगे। तथा आपकी कार्य क्षमता में भी इजाफा होगा। युवा वर्ग को भी कोई मन मुताबिक क...

और पढ़ें