पाने की कोशिश:हजारीबाग की राखी की कप्तानी में फ्लाइंग बॉल में झारखंड बना उपविजेता, दिल्ली में हुई थी प्रतियोगिता

हजारीबाग9 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

हजारीबाग की बेटी देश के नए खेल फ्लाइंग बॉल प्रतिस्पर्धा में उत्कृष्ट प्रदर्शन कर यह साबित कर दिया कि प्रतिभा किसी की मोहताज नहीं होती। हजारीबाग शहर के हुड़हुडू स्थित पासवान मुहल्ला की रहने वाली फ्लाइंग बॉल प्लेयर 23 वर्षीय राखी कुमारी ने पिछले 2 से 4 अक्टूबर तक फ्लाइंग बॉल एसोसिएशन ऑफ दिल्ली के द्वारा दिल्ली में आयोजित फर्स्ट सीनियर नेशनल फ्लाइंग बॉल चैंपियनशिप -2021-22 में बतौर झारखंड टीम की कप्तान खेली।

इनके कुशल और सफल नेतृत्व में देश के विभिन्न प्रांतों से पहुंची 9 टीमों के साथ खेलते हुए इनकी टीम फाइनल मुकाबले में कर्नाटक की टीम से पराजय हुई और उपविजेता बनने का गौरव हासिल किया। झारखंड टीम की कप्तान राखी कुमारी को इस राष्ट्रीय स्तर के मुकाबले में जाने में हजारीबाग सदर विधायक मनीष जायसवाल, श्रद्धानंद सिंह एवं फ्लाइंग बॉल एसोसिएशन झारखंड के सचिव हजारीबाग के मंडई ग्राम निवासी महेंद्र कुमार राणा ने सहयोग किया।

उनकी टीम में कुल 10 महिला खिलाड़ी हजारीबाग, रामगढ़, लोहरदगा, धनबाद और जमशेदपुर से शामिल हुई थी। राखी के पिता अशोक पासवान हजारीबाग के संत स्टीफन स्कूल में सिक्योरिटी गार्ड का कार्य करते हैं। राखी ने बताया कि वह शादीशुदा हैं और उनकी 2 साल 3 महीने की एक बेटी है। राखी ने कहा कि वह वर्ष 2015 से कबड्डी के क्षेत्र में निरंतर अभ्यास करते हुए कबड्डी में राष्ट्रीय स्तर के सात मैच खेले हैं। उन्हें वर्ष 2018 में जिला प्रशासन, हजारीबाग द्वारा स्वच्छता का ब्रांड एंबेसडर भी बनाया।

लेकिन वह कबड्डी छोड़ फ्लाइंग बॉल के क्षेत्र में मुकाम पाने की कोशिश में जुटी है। राखी कुमारी फिलहाल राधा गोविंद विश्वविद्यालय, रामगढ़ से बीपीएड की पढ़ाई कर रही हैं और झारखंड में होमगार्ड की बहाली में भी उत्तीर्ण हुई हैं। सरकारी स्तर से अब तक किसी प्रकार का सहयोग नहीं मिलने से दुखी हैं ।

खबरें और भी हैं...