विरोध:झारखंड इंडिपेंडेंट स्कूल एलायंस ने रखा उपवास, सरकारी नीति का किया विरोध

हजारीबागएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
  • उपवास में शिक्षक एवं शिक्षकेतर कर्मियों ऑनलाइन सुबह 9:00 बजे से दोपहर 12:00 बजे तक उपवास किया

निजी स्कूल शिक्षक कल्याण संघ हजारीबाग से जुड़े निजी विद्यालय संचालकों ने सांकेतिक उपवास रखा और अपने घर ही धरना पर बैठे। सरकार की नीतियों का विरोध जताया। कार्यक्रम का आह्वान झारखंड इंडिपेंडेंट स्कूल एलायंस ने किया था। उपवास में शिक्षक एवं शिक्षकेतर कर्मियों ऑनलाइन सुबह 9:00 बजे से दोपहर 12:00 बजे तक उपवास किया।

प्रदर्शन के माध्यम से सरकार के सामने स्कूल संचालकों ने छोटे एवं मध्यम कोटि के स्कूलों में कार्यरत शिक्षक एवं शिक्षकेतर कर्मियों को आर्थिक सहायता एवं जीवन भत्ता देने की मांग की। बंद अवधि में बिजली बिल माफ करने,नगर निगम का टैक्स माफ करने औरकोरोना काल के दौरान मृत शिक्षकों के परिवार को आर्थिक मुआवजा देने की मांग रखी गई। प्रदर्शन को फेसबुक पर लाइव प्रसारित किया गया। उपाध्यक्ष बिपिन कुमार के अनुसार लगभग 15000 शिक्षकों ने फेसबुक लाइव के माध्यम से अपनी बात को सरकार के सामने रखने का काम किया। प्रदर्शन में प्रदेश अध्यक्ष अविनाश वर्मा पलामू , उपाध्यक्ष बिपिन कुमार हजारीबाग, प्रवीण कुमार दुबे धनबाद , महासचिव सर्वेश दुबे बोकारो, प्रदेश कोषाध्यक्ष जीवन कुमार रामगढ़, प्रदेश उपाध्यक्ष दिनेश कुमार साहू गिरिडीह, प्रदेश मीडिया प्रभारी प्रभात कुमार रथ रांची आदि शामिल थे।

खबरें और भी हैं...