पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

कितनी इंट्री हुई:केरेडारी के प्रज्ञा केंद्र संचालकाें ने मतदाता सुविधा केंद्र का बहिष्कार का लिया निर्णय

केरेडारी16 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • कहा- पोर्टल में किस पंचायत से कितनी इंट्री हुई इसका लेखा-जोखा नहीं

पंचायत चुनाव में नए मतदाताओं को जोड़ने और हटाने का काम के लिए इस बार प्रज्ञा केंद्र में मतदाता सुविधा केंद्र बनाने का निर्णय निर्वाचन आयोग द्वारा लिया गया है। इसमें केरेडारी प्रखंड के सभी 16 पंचायत के सीएससी (प्रज्ञा केंद्र) कर्मी ने मतदाता से जुड़े कोई भी काम केंद्र के माध्यम से नहीं करने का फैसला लिया है। संचालकों ने तर्क दिया है कि मतदाताओं का काम नेशनल वोटर सर्विस पोर्टल पर करना होता है। यह पोर्टल ओपेन साइट है। जिसमें सीएससी का आईडी पासवर्ड का इस्तेमाल नहीं होता है। ऐसे में किस पंचायत से कितना इंट्री हुई है। इस आंकड़े का कोई लेखा जोखा नहीं रहता है। जिस वजह से संचालकों को कितना पारिश्रमिक मिलेगा इसमें संदेह बना रहता है। यही वजह है कि प्रज्ञा केंद्र संचालकों ने सीएससी के नाम पर नहीं बल्कि अपना पर्सनल एफोर्ड को लगाकर काम करने पर भविष्य में विचार कर सकते हैं।

संचालकों ने बताया कि निर्वाचन आयोग रामगढ़ के द्वारा उप निर्वाचन पदाधिकारी केरेडारी के माध्यम से सूचित किया गया था कि केरेडारी में सारे प्रज्ञा केंद्र कर्मी इस बार अपने अपने पंचायत में मतदाताओं की सुविधा के लिए नाम जोड़ने हटाने इत्यादि का काम केंद्र में ऑनलाइन करना सुनिश्चित करेंगे। जिस पर केरेडारी प्रखंड से जिन संचालकों ने काम नहीं करने का निर्णय लिया है उनमें संजय कुमार साव, कमलेश कुमार, अजय कुमार, अमित वर्मा, क़ौलेश्वर ठाकुर, सहबाज आलम, तुलसी साव, जितेंद्र कुमार, खियाली साव, सुरेन्द्र कुमार, तारकेश्वर साहू, रविन्द्र कुमार, पिंकू कुमार, मिथलेश कुमार, गोपाल कुमार, मो दाऊद, कामेश्वर कुमार साव, अकबर अली, राजू कुमार, सनोज महतो, आकाश कुमार, नवनीत कुमार तिवारी का नाम मुख्य रूप से शामिल है।

खबरें और भी हैं...