देशव्यापी कमी:केंद्र की तरह राज्य सरकार भी पेट्रोल डीजल से वैट घटाए

हजारीबागएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

भाजपा जिलाध्यक्ष अशोक यादव के नेतृत्व में एक शिष्टमंडल मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन के नाम एक मांगपत्र उपायुक्त को सौंपा। मांग पत्र के माध्यम से भाजपाइयों ने केंद्र सरकार की तरह पेट्रोल-डीजल से वैट घटाकर दाम कम करने की मांग की। श्री यादव ने कहा कि झारखंड सरकार की मंशा अब साफ झलक रही है। कहा कि 100 करोड़ से अधिक टीकाकरण के बाद कोविड संक्रमण दर में लगातार देशव्यापी कमी आयी है।

अब देश व राज्य की अर्थव्यवस्था में गति पकड़नी प्रारम्भ की है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जनभावनाओं के अनुरूप पेट्रोल व डीजल से उत्पाद शुल्क घटाकर कीमतों में बड़ी कमी की है। श्री यादव ने कहा कि केंद्र सरकार ने डीजल में 10 रुपये रुपये लीटर व पेट्रोल में 5 रुपये प्रति लीटर शुल्क घटाए हैं , साथ ही सभी राज्य सरकारों से भी जनहित में अपने हिस्से के उत्पाद शुल्क व शेष में कटौती कर जनता को ज्यादा राहत दिला सकते है। जिलाध्यक्ष ने कहा कि आज राज्य सरकार 22 प्रतिशत वैट व एक रुपये शेष के माध्यम से पेट्रोल में 17 रुपए व डीजल में 12.50 रुपये जनता के पॉकिट से वसूल रही है। उन्होंने कहा कि चुनाव पूर्व व सरकार गठन के बाद भी गठबंधन में शामिल दलों ने लोक कल्याण के लंबे चौड़े वादे किए थे परन्तु वादे निभाने में विफल साबित हुए है। अतः भाजपा मांग करती है कि सरकार अविलंब वैट घटाकर पेट्रोल व डीजल की कीमतों में कमी करे। शिष्टमंडल में जिला महामंत्री विवेकानंद सिंह, सुनील साव उपाध्यक्ष उमा पाठक, उपाध्यक्ष राजेश गुप्ता, दामोदर सिंह, मूलचंद साव, भानुमति पासवान, नंदलाल मेहता अल्पसंख्यक मोर्चा के जिलाध्यक्ष तनवीर अहमद, वोबीसी जिलाध्यक्ष अजित चंद्रवंशी, आशिष वर्मा समेत कई लोग शामिल थे।

खबरें और भी हैं...